script14 families forced to live in dilapidated house | 14 परिवार जर्जर मकानों में रहने को मजबूर | Patrika News

14 परिवार जर्जर मकानों में रहने को मजबूर

अधिकतर किराएदार शासकीय अधिकारी कर्मचारी भवन भी सुरक्षित नहीं, रहता है हादसे का डर

खंडवा

Updated: June 25, 2022 05:43:56 pm

सेंधवा. नगर सहित विकासखंड के कई ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय भवनों की स्थिति कर्मचारियों की चिंता का कारण बन रही है। जर्जर भवनों में शासकीय कर्मचारियों सहित अन्य स्टाफ के साथ हादसे की आशंका हमेशा बनी रहती है। इसके बाद भी बड़ी संख्या में परिवार निवास कर रहे हैं।
नगरीय क्षेत्र में कई शासकीय कार्यालय ऐसे है। जिनका निर्माण 20 से 30 वर्ष पहले हुआ था। समय के साथ ही कई भवन जर्जर हो चुके है, लेकिन कार्यालय का अभाव और शासन की अनदेखी के चलते कई कार्यालयों में कर्मचारी हादसे की आशंका के बीच काम करने को मजबूर है। कर्मचारियों की परेशानी है कि वे किसे बोले। सेंधवा में सबसे ज्यादा परेशानी पुलिस विभाग के जवानों और अधिकारियों को झेलनी पड़ रही है। हालांकि अभी तक कोई बड़ी घटना तो नहीं हुई है, लेकिन भवनों की स्थिति देखकर हादसे की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता।
नपा क्षेत्र में 14 मकान रहने योग्य नहीं
नपा के कुल 24 वार्ड में 14 मकान रहने योग्य नहीं है। नपा द्वारा सर्वे में ऐसे मकान चिह्नित किए गए थे जिनकी हालत जर्जर है, लेकिन फिर भी उसमें लोग रह रहे है। कुछ लोग किराएदार के रूप में मकानों में रहते थे, जिन्होंने कब्जे कर लिए है और मामला न्यायालय में चल रहा है। इसलिए ऐसे परिवार खतरों के बीच रह रहे है, लेकिन मकान खाली नहीं करना चाहते है। नपा अधिकारियों ने कहा कि कुछ लोगों ने अपना मकान रिपेयरिंग कराने की बात कही है। नियमानुसार मकान को तोडऩे का अधिकार नपा को है, लेकिन जिनके विवाद न्यायलय में लंबित है। उसे नपा नहीं तोड़ सकती है।
40 साल पुराने भवन हो गए जर्जर
नगर के मल्हार बाग स्थित पुलिस थाना के पीछे पुलिस अधिकारियों और जवानों के लिए रहवासी क्षेत्र बने है। हालांकि 40 साल पुराने भवनों में रहना पुलिस विभाग के कई कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। पुलिस कर्मियों के परिवार भवन की मरम्मत की मांग कर रहे है। परिसर में तीन ब्लॉक के सभी मकानों को मरम्मत की आवश्यकता है। थाना परिसर के पीछे पुरानी चाल में भी कई परिवार रह रहे है। शासकीय अवसाओं की कमी की वजह से जर्जर भवनों में रहना पड़ रहा है।
सर्वे के अनुसार नपा क्षेत्र में कुल 14 मकान रहने लायक नहीं है, उन्हें चिह्नित किया था। कुछ मकानों में सुधार हुआ है। वहीं कई जर्जर मकानों के विवाद के विवाद न्यायालय में लंबित है। इसलिए कार्रवाई नहीं कर पा रहे है।
राजेश मिश्र, सहायक यंत्री नपा सेंधवा
14 families forced to live in dilapidated house
14 families forced to live in dilapidated house

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Delhi Excise Case: मनीष सिसोदिया के घर CBI के बाद अब ED दे सकती है दस्तक, मनी लॉन्ड्रिंग एंगल से जांच संभवछापेमारी के बीच New York Times की रिपोर्ट में मनीष सिसोदिया की फोटो पर विवाद, अखबार ने आरोपों से किया इनकारDelhi Excise Case: कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, CBI रेड के बाद मनीष सिसोदिया के इस्तीफे की मांग कर रहे प्रदर्शनकारीMumbai News: मुंबई में 26/11 जैसा हमला करने की मिली धमकी, पुलिस को पाकिस्तानी नंबर से आया मैसेजUttarakhand: देहरादून में फटा बादल, भारी बारिश ने मचाई तबाही, उफान पर नदियांझारखंड, बिहार, यूपी, और एमपी में मानसून फिर सक्रिय, 20 और 21 अगस्त को भारी बारिश का अलर्टJammu Kashmir Weather Update: उधमपुर में लैंडस्लाइड से गिरा मकान, 2 बच्चों की मौत, बारिश से तबाहीRajiv Gandhi Birth Anniversary: पिता राजीव गांधी को यादकर भावुक हुए राहुल गांधी, बोले- देश के लिए जो सपना आपने देखा...
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.