script150 crore expenditure still deepening water crisis | 150 करोड़ खर्च फिर भी गहराता जा रहा जल संकट | Patrika News

150 करोड़ खर्च फिर भी गहराता जा रहा जल संकट

गर्मी तेज होते ही गहराया जल संकट, टैंकरों पर टिकी पेयजल आपूर्ति।

खंडवा

Published: March 31, 2022 09:53:46 pm

खंडवा. मध्य प्रदेश के खंडवा वासियों को सुचारू पेयजल प्रदान कराने के लिए सरकार की ओर से बीते दस वर्षों के दौरान 150 करोड़ रुपए से अधिक खर्च कर दिए हैं, बावजूद इसके जलसंकट की समस्या शहर में गहराती जा रही है। सरकार गांवों में घर-घर पानी पहुंचाने में लगी है, जजकि पेयजल के मामले में विकट हो गई है। पेयजल वितरण में समान रोस्टर लागू नहीं होने से कई वार्ड सिर्फ टैंकर के भरोसे हैं। अफसरों की कमजोर मॉनीटरिंग, जनप्रतिनिधियों की उदासीनता ने इस समस्या को और विकराल कर दिया है।

News
150 करोड़ खर्च फिर भी गहराता जा रहा जल संकट

नर्मदा जल प्रदाय, सुक्ता और अमृत महोत्सव के तहत निर्माणाधीन योजनओं के तहत वर्ष 2009 से लेकर अब तक 150 करोड़ खर्च हो चुके हैं। इसके बावजूद हर माह लाखों रुपए टैंकर पर खर्च हो रहे हैं। शहर में जलापूर्ति के लिए 60 किमी पाइप लाइन और 9 नई टंकियां स्थापित की गई हैं। एक पुरानी को मिलाकर दस जलापूर्ति की टंकी का निर्माण कराया गया है, लेकिन टंकियों में जलभराव नहीं होने से पेयजल व्यवस्था लड़खड़ा गई है। शहर के सूरजकुंड समेत कई अन्य जगहों पर जलापूर्ति प्रभावित होने पर अपर कलेक्टर शंकरलाल सिंगाड़े ने निगम के सहायक इंजीयनिर को नोटिस जारी किया। नोटिस के बाद टैंकर से जलापूर्ति शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें- कल से महंगा हो जाएगा दूध, इतने और बढ़ रहे हैं दाम


9 टैंकरों से भेजा जा रहा पानी

नगर निगम के कार्यपालन यंत्री अंतर सिंह तंवर का कहना है कि, पेयजल समस्या की सूचना मिलने पर तत्काल टैंकर भेजा जा रहा है। चारखेड़ा में एक और पंप चालू करा दिया गया है। 9 टैंकर लगाए हैं। सूरजकुंड समेत कई वार्ड में जलापूर्ति के साथ सूचना मिलने पर टैंकर भेजे जा रहे हैं। अपर कलेक्टर शंकरलाल सिंगाड़े का कहना है कि, अभी हाल में कुछ वार्ड के लोगों ने शिकायत की थी। समीक्षा के दौरान के जानकारी दी गई कि, सूचना मिलने पर टैंकर भेजे जहा रहे हैं।


पूर्व पार्षद बोले

संत रैदास वार्ड की पूर्व पार्षद चंदा देवी सोनकर का कहना है कि, हमारे वार्ड के ज्यादा हिस्से में नो पाइप लाइन बिछा दी गई हैं। लेकिन, ना तो जलापूर्ति हो रही है और ना ही कनेक्शन दे रहे हैं। रेलवे की अनुमति मिल गई है। इसके बाद भी जलापूर्ति शुरू नहीं कर रहे हैं। अभी यह हाल है कि, अप्रैल में स्थित दस साल पहले जैसी हो जाएगी।

खाट पर शव लादकर कई किमी पैदल चलीं महिलाएं, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.