1 किमी में 3 घंटे कार्रवाई कर सरकारी जमीन पर तने 35 अतिक्रमणों पर चला प्रशासन का पंजा

इंदिरा चौक से माता चौक तक सड़क किनारे किया स्थाई और अस्थाई अतिक्रमण तोड़ा
सरकारी जमीन पर सामान रखने वाले 11 व्यापारियों पर जुर्माना लगाकर वसूले 48 हजार

 

खंडवा. सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर अस्थाई और पक्के निर्माण कर कब्जा करने वालों के खिलाफ शुक्रवार को प्रशासन का जमकर पंजा चला। इंदिरा चौक से माता चौक तक एक किमी में तीन घंटे तक कार्रवाई कर प्रशासन ने 35 से अधिक अतिक्रमणों पर जेसीबी चलाकर धराशायी किया। इस दौरान अतिक्रमणधारियों ने अधिकारियों से समय देने की मिन्नतें की, लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई। अधिकारियों ने सख्ती से अतिक्रमणधारियों को मौके से हटने के निर्देश दिए। वहीं सरकारी जमीन पर दुकानदारों का सामान रखने वाले 11 से अधिक व्यापारियों पर जुर्माने की कार्रवाई की गई। कार्रवाई में व्यापारियों से 48 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया। भारी पुलिस बल के साथ अतिक्रमण विरोध दस्ता देख माता चौक क्षेत्र में अफरा-तफरी मची रही। भीड़ के बीच सड़क पर जाम लगता रहा। प्रशासन के अनुसार अतिक्रमणधारियों के खिलाफ शहर में कार्रवाई जारी रहेगी।
साहब तुलसी भैया से बात कर लो

दोपहर करीब 2 बजे अतिक्रमण विरोध दस्ता इंदिरा चौक पहुंचा। चौक पर स्थित सरकारी जमीन पर बनी दुकानों को हटाने के निर्देश दिए। तभी कांग्रेस पार्षद बलराम वर्मा मौके पर पहुंचे। एसडीएम संजीव पांडे को दुकानों के संबंध में दस्तावेज दिखाए। लेकिन एसडीएम ने कहा यह जमीन निगम की नहीं नजूल की है तो वर्मा बोले निगम ने 1.24 लाख रुपए दुकानों के नाम पर लिए हैं। दिसंबर माह में किसी से 50 हजार तो किसी ने 90 हजार रुपए जमा किए हैं। इसी बीच पार्षद ने मोबाइल निकाला और एसडीएम से बोले लो साहब तुलसी भैया (प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट) से बात कर लो। पार्षद की बात सुन निगम के दस्तावेज मंगाए गए। इसमें 17 दुकानों को वैध बताया। इसके बाद अवैध तीन दुकानों को धराशायी किया गया।

गरीबों को परेशान मत करो, बड़ों पर कार्रवाई करो

कार्रवाई के दौरान नाकोड़ा नगर मार्ग के पास रखे टीनशेड के टप को तोड़ा गया। दुकान संचालक बार-बार अधिकारियों से टप हटाने के लिए समय मांगता रहा। लेकिन अधिकारियों ने उसकी नहीं सुनी और जेसीबी चलवा दी। दुकान टूटने के बाद आहत दुकानदार ने कहा साहब गरीबों को परेशान मत करो। कार्रवाई करना है तो बड़ों-बड़ों पर करो। उनके खिलाफ कार्रवाई करने में डर लगता है क्या? दो से तीन मंजिला इमारतें तान रखी हैं।
पूर्व विधायक की बाउंड्रीवाल, व्यापारी का सर्विस तोड़ा
माता चौक पर सड़क किनारे दुकानों के टीनशेड तोड़े गए। वहीं मांधाता विधानसभा के पूर्व विधायक राणा सज्जन सिंह के मकान की सरकारी जमीन पर बनी बाउंड्रीवॉल को तोड़ा। वहीं व्यापारी के सर्विस सेंटर को पूरी तरह धराशायी किया गया। इसके अलावा नव निर्माण कर सरकारी जमीन पर बनाई गई शटर को तोड़ा। इस दौरान मकान मालिक ने शटर हटाने की बात कही तो निगम अफसर बोले अतिक्रमण हटाने में हुआ प्रशासन का व्यय भी आपसे वसूला जाएगा। नोटिस मिलेगा।

इन व्यापारियों से वसूला जुर्माना

कार्रवाई के दौरान सरकारी जमीन पर कब्जा कर सामान रखने वाले व्यापारियों पर जुर्माने की कार्रवाई की गई। व्यापारियों ने कहा साहब कुछ दिन से रखा है। हटा लेते हैं, लेकिन अधिकारियों ने जुर्माने की रसीद काटने के निर्देश दिए। इसके बाद व्यापारी पवनीत सिंह सलूजा, आदर्श ट्रेडर्स, खंडवा ऑटोमोबाइल से 10-10 हजार रुपए और वीके ऑटोमोबाइल, एमके ऑटोमोबाइल, आकाश ऑटो डील पर पांच-पांच हजार रुपए का जुर्मान लगाया। वहीं न्यू सोलंकी बूट, राधारानी टेंट हाउस, अमित इलेक्ट्रॉनिक, राहुल पान भंडार से 500-500 रुपए जुर्माना ठोंका। इसके अलावा सरकारी जमीन पर मवेशी बांधने पर विजय शर्मा के खिलाफ एक हजार जुर्माने की कार्रवाई की।

कार्रवाई के संदेह में भाजपाई हुए जमा

इंदिरा चौक पर प्रशासन की अतिक्रमण के विरुद्ध कार्रवाई चल रही थी। टीम भाजपा कार्यालय के पास स्थित चाय-पान के हाथठेले हटाने पहुंची। तभी कार्यालय परिसर और दुकानों को तोडऩे के संदेह पर भाजपाई कार्यालय पर जमा होने लगे। लेकिन टीम दुकानें तोड़कर लौट गई।

जितेंद्र तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned