शासकीय राशन की हेराफेरी का मास्टरमाइंड असलम ने पूछताछ में उगले राज, दो आरोपियों को भेजा जेल

शासकीय राशन की हेराफेरी का मास्टरमाइंड असलम रिमांड पर, दो आरोपियों को भेजा जेल, न्यू गुरुकृपा फर्म का संचालक अरबाज फरार

शासकीय योजनाओं के चालव और गेहूं की हेराफेरी करते पांच ट्रकों को पकडऩे का मामला, आरोपी से दस्तावेजों को लेकर होगी पूछताछ

खंडवा. शासकीय योजनाओं के गेहूं, चावल में हेराफेरी करने वाले तीन आरोपियों को मंगलवार को कोतवाली पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। पुलिस ने न्यायालय से आरोपियों की रिमांड मांगी। इस पर कोर्ट ने हेराफेरी के मास्टरमाइंड असलम पिता काशम चौहान निवासी गंज बाजार को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। वहीं आरोपी शहबाज पिता अकरम निवासी गुलमोहर कॉलोनी और मजदूर अशोक पिता लखन निवासी रोशनाई को जेल भेजा है। इसके अलावा प्रकरण में मेसर्स न्यू गुरुकृपा रोड लाइंस का संचालक आरोपी अरबाज पिता अकरम खान निवासी गुलमोहर कालोनी फरार है। जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। इधर, रिमांड पर लिए गए आरोपी असलम से पुलिस पूछताछ कर शासकीय राशन की हेराफेरी और ट्रांसपोर्ट से संबंधित दस्तावेज बरामद करेगी। साथ ही हेराफेरी कर छिपाए गए राशन की भी जानकारी निकालेगी। वहीं मामले में पूर्व में शासकीय योजनाओं के खाद्यान्न किए गए ट्रांसपोर्ट की जानकारी निकालकर उक्त खाद्यान्न में हेराफेरी की पड़ताल की जाएगी। प्रकरण की गंभीरता से जांच होने पर शासकीय योजनाओं के राशन में बड़े घोटाले का खुलासा होने का अंदेशा है।
बोरियों में छेद कर चोरी करता था चावल व गेहूं
आरोपी असलम ने अपने भतीजे अरबाज के नाम से नागरिक आपूर्ति निगम में न्यू गुरुकृपा ट्रांसपोर्ट फर्म के नाम से राशन के परिवहन का ठेका ले रखा है। सूत्रों की मानें तो आरोपी वेयर हाउस से उचित मूल्य की दुकानों पर पहुंचाने वाला राशन भरकर सुनसान क्षेत्र में ले जाता था। जहां चावल, गेहूं की बोरियों में छेद कर राशन की हेराफेरी की जाती थी। इस दौरान चार बोरियों में पांच बोरियां बनाने का खेल चल रहा था। सोमवार को पुलिस ने गुलमोहर कॉलोनी में दबिश दी। उस समय भी हर ट्रक में तीन से चार लोग मौजूद थे, जो बोरियों में छेद कर राशन निकाल रहे थे। पुलिस देखकर सभी आरोपी मौके से भाग निकले थे।

दबिश देकर चार आरोपियों को दबोचा, धोखाधड़ी का केस
कोरोना महामारी के चलते गरीबों को बांटने के लिए पुनासा सेक्टर की शासकीय उचित मूल्य दुकानों में गेहूं और चालव पहुंचाने के लिए ट्रकों में लादा गया। गाडिय़ों में राशन लदने के बाद आरोपी सभी पांच ट्रकों को लेकर आया और घर के बाहर खड़ा कर लिया। इसी बीच पुलिस को शासकीय खाद्यान्न में हेराफेरी की सूचना मिली। सोमवार सुबह कोतवाली पुलिस ने दबिश देकर मौके से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। वहीं गेहूं व चावल से भरे पांच ट्रकों को जब्त किया गया। इन ट्रकों की तुलाई में निर्धारित राशन से कम मिला है। हेराफेरी सामने आते ही राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक अतुल कुमार गीते की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने मेसर्स न्यू गुरुकृपा रोड लाइंस के संचालक अरबाज खान, असलम चौहान, शहबाज चौहान और अशोक फरकले के खिलाफ धारा 406, 420 और 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम व 53 आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया था।

जितेंद्र तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned