हिंदुजा अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई की तैयारी में प्रशासन

-धारा 144 की धारा 188 के तहत हो सकती है कार्रवाई
-दूसरे दिन भी नर्सिंग होम के 14 कर्मचारियों के लिए जांच सैंपल

खंडवा.
कोरोना संक्रमित स्टाफ द्वारा मरीजों का इलाज किए जाने और कोरोना लक्षण वाले मरीजों की जानकारी देरी से देने पर हिंदुृजा अस्पताल प्रबंधन पर प्रशासन कार्रवाई की तैयारी में है। यहां भर्ती तीन मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद रविवार को हिंदुजा अस्पताल के स्टाफ की जांच में भी पांच कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले थे। जिसके बाद प्रशासन द्वारा हिंदुजा अस्पताल को सील करने की कार्रवाई की गई थी।
सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने हिंदुजा अस्पताल पहुंचकर शनिवार को नाइट शिफ्ट करने वाले स्टाफ के 14 कर्मचारियों के कोरोना जांच सैंपल लिए। वहीं, प्रशासन द्वारा अस्पताल को सील किए जाने के बाद सोमवार यहां बैरिकेडिंग्स लगाकर कंटेंमेंट क्षेत्र बनाय दिया गया। वहीं, कोरोना लक्षण वाले मरीजों का भर्ती कर इलाज करने और प्रशासन को इसकी जानकारी देरी से देने को लेकर आपदा प्रबंधन व धारा 144 की उपधारा 188 के तहत हिंदुजा अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। सीएमएचओ डॉ. डीएस चौहान ने बताया कि हिंदुजा अस्पताल द्वारा नियमों का उल्लंघन किया गया है। जिसके तहत कार्रवाई की जाएगी।
एचडीएफसी बैंक हुआ बंद
दूध तलाई स्थित एचडीएफसी बैंक के ऊपर निवासरत परिवार में पांच लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। जिसके बाद सोमवार को एचडीएफसी बैंक बंद रही। कोरोना पॉजिटिव मरीजों के घर के आसपास कंटेंमेंट क्षेत्र घोषित कर वहां बैरिकेडिंग्स की जाती है, लेकिन सोमवार दोपहर तक यहां बैरिकेडिंग्स नहीं की गई थी। यहां कंटेंमेंट क्षेत्र बनता है तो आगामी 21 दिन तक बैंक के खुलने के आसार कम है। ऐसा हुआ तो शहर में ये पहली बार होगा, जब कंटेंमेंट में आने पर कोई बैंक बंद रहेगी।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned