एट्रोसिटी एक्ट पर सीएम ने कहा- कोई वर्ग नाराज है तो अपनी बात रखे

एट्रोसिटी एक्ट पर सीएम ने कहा- कोई वर्ग नाराज है तो अपनी बात रखे

Rahul Singh | Publish: Sep, 06 2018 12:27:10 PM (IST) Khandwa, Madhya Pradesh, India

जनआर्शीवाद यात्रा लेकर खंडवा में है मुख्यमंत्री

खंडवा. एट्रोसिटी एक्ट को लेकर गुरुवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यदि एक्ट को लेकर कोई वर्ग नाराज है तो वह अपनी बात रख सकता है। प्रदेश का हर वर्ग का व्यक्ति मेरा अपना है और उसको विकास से जोडऩा मेेरा प्रयास है। वे जनआर्शीवाद यात्रा के दौरान खंडवा आए है। वहीं शहर में आज एट्रोसिटी एक्ट को लेकर पूरी तरह से शांतिपूर्ण बंद रहा। नाश्ते और चाय की दुकानें खुली थी, लेकिन वह आधे शटर खोलकर। हालांकि गुरुवार होने के कारण खंडवा में अवकाश रहता है इसलिए मार्केट बंद ही रहता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की यात्रा आने के कारण और सपाक्स के बंद के आह्वान के कारण हर जगह पुलिस बल तैनात रहा। अभी तक किसी भी प्रकार के घटना की बात सामने नहीं आई है।
नहीं चले वाहन यात्री परेशान
बंद के दौरान ऑटो भी नहीं चले। जिस कारण बाहर से आने वाले यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। वाहन नहीं मिलने से कई यात्रियों ने पैदल ही रास्ता तय किया। वहीं मुख्यमंत्री शहर में होने के कारण भी लोगों को परेशानी उठाना पड़ी। सीएम के शहर में कई कार्यक्रम होने के कारण कई बार रास्ते को बंद किया गया जिस कारण भी आमजन को निकलने में काफी परेशानी हुई।
सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद भी केंद्र सरकार द्वारा एससी एसटी के कानून में अध्याधेश लाने के विरोध में सामान्य पिछड़ा अल्पसंख्यक कल्याण समाज संस्था (सपाक्स) ने एट्रोसिटी एक्ट के तहत गुरुवार को खंडवा बंद रहा। बंद को लेकर सपाक्स की एक बैठक मंगलवार रात को हुई। बैठक में काले कानून को वापस लेने के लिए हरसंभव प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया। गुरुवार को शांतिपूर्ण रूप से सुबह 10 बजे से शाम 4.30 बजे तक दुकानें, प्रतिष्ठान, बंद रही।
सपाक्स की बैठक में गुरुवार 6 सितंबर को बंद के आह्वान के साथ ही आगामी विरोध प्रदर्शन की रणनीति भी बनाई गई। बंद के दौरान सभी सपाक्स वर्ग के लोगों से अपने घर के बाहर विरोध के बैनर, झंडे लगाने का निर्णय भी लिया गया। घर-घर जाकर एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में पर्चे भी बांटे जाएंगे। आगामी रणनीति के तहत २७ सितंबर को विशाल रैली का आयोजन किया जाएगा।
बैठक में जिला अधिवक्ता संघ के सचिव योगेश गुप्ता ने अधिवक्ता संघ के सपाक्स वर्ग सदस्यों द्वारा एट्रोसिटी एक्ट के मुकदमे नि:शुल्क लडऩे की घोषणा भी की गई। बैठक में राजपूत समाज, ब्राह्मण समाज, वैश्य समाज, मुस्लिम समाज, पेंशनर्स संघ, विकलांग संघ सहित सपाक्स समाज के पदाधिकारियों ने भाग लिया। सभी ने बंद को समर्थन देने और आगामी सारे कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेकर काले कानून को वापस लेने के लिए सरकार बाध्य करने की बात भी कही।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned