तस्करों का हमला, पथराव किया, वाहन तोड़े, सागौन जब्त

मध्यप्रदेश के खंडवा में वन माफियाओं ने सरकारी उडऩदस्ते पर हमला कर दिया। खुद के वाहन से सरकारी वाहनों को टक्कर मारी, पथराव भी किया।

By: संजय दुबे

Published: 04 Nov 2017, 12:13 PM IST

खंडवा/रोशनी. जिले में वन माफियाओं के हौंसले इतने बुलंद हैं कि वे वन अफसरों पर भी हमला करने से नहीं चूक रहे। गुरुवार की आधी रात को रोशनी, टेमलाबाड़ी, प्रतापपुरा के बीच जंगल से सागौन काटकर तस्कर ले जा रहे थे। जिन्हें मुश्तैदी के साथ वन विभाग की टीम ने रोका, लेकिन तस्करों ने जीप को टक्कर मारकर भागे, पीछे करने पर टीम पर पत्थरों से भी हमला बोल दिया।
वन विभाग की तीन रेंज की टीम ने आरोपियों का पीछा लगातार किया। हरदा जिले के टिमरनी क्षेत्र में आखिर उन्हें पकड़ ही लिया। आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में सागौन जब्त की गई। जिसकी कीमत ७१ हजार ९६२ रुपए है। हालांकि हमले में कोई घायल नहीं हुआ है। लेकिन सरकारी दो वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं। कार्रवाई रात ३ बजे की है जिसमें ११ सागौन की सिल्लियां जब्त की है। वन अमले पर कार्रवाई के बाद पूरे खंडवा रेंज में हड़कंप मच गया है। आखिर तस्करों के इतनें हौंसले बुलंद कैसे हो गए। वन विभाग पूरे मामले में पुलिस कार्रवाई करेगा।

जीप पलटाने की फिराक में थे तस्कर
वन अमले में रेंजर आर चौहान, वनपाल मनोज चोरै, जयप्रकाश झुरिया, हरिशंकर मुकाती, सदाराम अठडे, वनरक्षक दिलीप पटेल, बुद्धराम लोघी, गंगाराम सोलकी, अकाश तोमर, प्रदीप तिवारी, प्रदीप आंक्षा, चालक अफजल खान मौजूद थे। रेंजर चौहान ने कहा तस्कर जीप पलटाने की फिराक में थे। जैसे तैसे हम बचकर उन्हें घेरा और गिरफ्तार किया।

डायल १०० को बुलाया
सागौन तस्करों को पकड़ा तो जीप से ११ सागौन की सिल्लियां जब्त की गई। एक मैजिक वाहन और आरोपियों को पकड़ा है। आरोपियों के पास से १३.७८ घनमीटर सागौन है जिसकी कीमत ७१ हजार ९६२ रुपए है। क्षेत्र से चोरी छिपे बड़े पैमाने पर सागौन की तस्करी की जा रही है। हालांकि घटना के बाद दूसरे दिन शुक्रवार को दिनभर क्षेत्र में सर्चिंग व जांच-पड़ताल चलती रही।

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned