ब्राउन शुगर और मेथ के नशे का अंतरराष्ट्रीय रैकेट खंडवा में पकड़ाया

ब्राउन शुगर और मेथ के नशे का अंतरराष्ट्रीय रैकेट खंडवा में पकड़ाया

Jitendra Tiwari | Publish: Nov, 11 2018 09:05:00 AM (IST) Khandwa, Madhya Pradesh, India

ब्राउन शुगर और मेथ के साथ पुलिस ने पकड़ा तीन आरोपी, अंतरराष्ट्रीय बाजार में 1.17 लाख रुपए कीमत महंगे नशे की

 

खंडवा. कोतवाली पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय नशे के कारोबार का खुलासा किया है। पुलिस ने तीन आरोपितों को ब्राउन शुगर की ८० पुडिय़ा और दो मेथ की पुडिय़ा के साथ पकड़ा है। पकड़ी गई ब्राउन शुगर की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार के हिसाब से १.१७ लाख रुपए है। जबकि मेथ की कीमत करीब ३० हजार रुपए है। तीनों आरोपित नशे के आदि होने के साथ ही अपने खर्च के लिए अंतरराष्ट्रीय नशे का कारोबार खंडवा में भी फैलाने की तैयारी में थे। फिलहाल पुलिस ने एनडीपीसी एक्ट के तहत तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। तीनों आरोपित छात्र होने से नशे के कारोबार का विस्तार कॉलेज परिसरों में भी होने से की संभावना भी जताई जा रही है।
कोतवाली पुलिस की स्पेशल स्क्वाड को जानकारी मिली थी कि कुछ छात्र नशे के कारोबार में लिप्त है। ये छात्र ब्राउन शुगर का नशा करने के साथ ही ब्राउन शुगर की पुडिय़ा भी बेच रहे है। जिसके बाद पुलिस ने मंगलवार शाम को स्टेडियम ग्राउंड के पास से शिवम पिता प्रमोद श्रावगी निवासी किशोर नगर, शेख शादाब पिता शेख रफीक निवासी सेल्स टैक्स कॉलोनी और किशोर नगर से मनन पिता दिनेश जायसवाल निवासी बाहेती कॉलोनी को गिरफ्तार किया है। आरोपी शिवम के पास से पुलिस ने ३३ पुडिय़ा ब्राउन शुगर की, मनन के पास से २७ पुडिय़ा ब्राउन शुगर की और मेथ की २ पुडिय़ा तथा शेख शादाब के पास से ३० पुडिय़ा ब्राउन शुगर की जब्त की है। ब्राउन शुगर की मात्रा १७ ग्राम और मेथ की मात्रा ५ ग्राम की है। स्थानीय बाजार में ब्राउन शुगर का मूल्य ६० हजार रुपए बताया जा रहा है।
शिवम लाता था मुंबई से
पकड़े गए आरोपित आपस में दोस्त है। तीनों फिलहाल अलग-अलग शहर में रहकर पढ़ाई कर रहे है। जिसमें शिवम मुंबई में ग्रेजुएशन कर रहा है। मनन भोपाल में बी-फार्मा का कोर्स कर रहा है और शादाब पीसीजी कॉलेज का छात्र है। मामले में शिवम ब्राउन शुगर का कैरियर था और दोनों दोस्त एडिक्ट होने के साथ माल बेचते थे। सीएसपी मनोहरसिंह बारिया और कोतवाली टीआई बीएल मंडलोई ने बताया कि पहले तीनों दोस्त इंदौर से ड्रग्स खरीदते थे। यहां ब्राउन शुगर की पुडिय़ा ५०० रुपए में मिलती थी। जबकि ये ही पुडिय़ा मुंबई में २५० रुपए की पड़ती है। शिवम के मुंबई जाने के बाद से वो मुंबई से ही पुडिय़ा लेकर आता था। पुलिस के अनुसार तीनों दोस्त ड्रग्स का नशा करने के साथ ही युवाओं में ड्रग्स की लत लगाकर बेचते भी थे। इस मामले में फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।

चार आरोपितों के होने की चर्चा
पुलिस के अनुसार ड्रग्स मामले में तीन लोगों को आरोपित बताया गया है। सूत्रों के अनुसार मामले में चार आरोपित बताए जा रहे है। पकड़े गए आरोपितों के परिजनों का कहना है कि पुलिस ने सोमवार शाम को ही चार आरोपितों को गिरफ्तार किया था। जिसमें से एक को रात में ही छोड़ दिया गया है। वहीं, आरोपितों के परिजनों का ये भी आरोप है कि ड्रग्स केवल शिवम के पास से पकड़ी गई है। इस मामले में दोनों आरोपितों के परिजन बुधवार को मीडिया के सामने साक्ष्य सहित खुलासा करने की बात कह रहे हैं।
दिनभर नेताओं का लगा रहा जमावड़ा
हाई प्रोफाइल प्रकरण होने और तीनों आरोपित अच्छे परिवारों से होने के कारण दिनभर कोतवाली थाने में नेताओं का जमावड़ा लगा रहा। सूत्रों के अनुसार नेताओं के जरीए पुलिस पर दिनभर दबाव भी बनाया गया। संवेदनशील मामला होने से पुलिस ने आनन-फानन में कार्रवाई कर रात ८.३० बजे मीडिया के सामने खुलासा कर दिया। टीआई बीएल मंडलोई का कहना है कि मामले में फिलहाल जांच की जा रही है। जिसकी भी मामले में संलिप्तता मिलेगी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned