scriptcareful : Labor families who went to do farming in Maharashtra | साधावधान: महाराष्ट्र खेती करने गए श्रमिक परिवार, इस तरह की बीमारी लेकर लौटे घर | Patrika News

साधावधान: महाराष्ट्र खेती करने गए श्रमिक परिवार, इस तरह की बीमारी लेकर लौटे घर

आशा कार्यकर्ता की सजगता से दिव्यांग माता-पिता के कुपोषित बच्चे को मिला नया जीवन

खंडवा

Published: April 09, 2022 01:26:02 pm

खंडवा. जिले से महाराष्ट्र मजदूरी करने के बाद दिव्यांग परिवार कुपोषित बच्चे को लेकर घर लौटा। आशा कार्यकर्ता की सजगता से बच्चे को नया जीवन मिला। जिले के पंधाना ब्लाक के छनेरा निवासी सेवक और उनकी पत्नी भागवत दोनों मानसिक रूप से दिव्यांग हैं। 2 वर्ष से महाराष्ट्र के रावेर तहसील के एक गांव में खेत में मजदूरी कर रहे थे। महिला ने वहीं बच्चे सुमित को जन्म दिया।
malnutrition
malnutrition
महिला घर पहुंची 6 किग्रा निकला वजन
महिला घर छनेरा आई तब बच्चे की उम्र 10 माह हो गई थी। घर लौटने पर आशा कार्यकर्ता मंजू सगोरे परिवार से मिली। बच्चे का वजन कराया तो 6 किग्रा. निकला। कुपोषित के कारण वह बीमार था। दोनों को बुखार होने पर आशा ने मां को पेरासिटामोल गोली व बच्चे को सिरप दी। दो बार समझाने के बाद भी इलाज को तैयार नहीं हुए। आशा और सहयोगी पूनम, सुमित के घर गए। काफी समझाइस के बाद भी परिवार के लोग आनाकानी कर रहे थे। आशा के प्रयास के बाद इलाज को राजी हो गए।
108 के सहायोग से ले गई अस्पताल
आशा 108 के सहायोग से बच्चे को खंडवा अस्पताल लेकर पहुंची। अस्पताल का स्टाप नाराज हो गया। आशा ने बताया कि 4 दिन पहले ही बच्चे से मिली है। परिवार पलायन में था यह सब बता रही थी तभी स्टॉफ ने बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती किया।
2 बाटल खून चढ़ाया
पहले ही दिन बच्चे को 2 बाटल खून चढ़ाया गया। साथ ही बच्चे की मां का भी उपचार प्रारंभ किया गया। सुमित को एक सप्ताह अस्पताल में भर्ती रखकर इलाज दिया गया। स्वास्थ्य सुधार होने के बाद उसे छुट्टी दे दी गई। आशा ने बच्चे और उसकी मां को खंडवा एनआरसी भर्ती कराया। आशा ने शिशु व मां की देखरेख स्वयं जिम्मेदारी ली। इस दौरान आशा शिशु के माता-पिता को हौंसला देती रही। 14 दिन बाद एनआरसी से छुट्टी कर दी गई।
आशा ने दी ये दवाएं
आशा ने बच्चे के घर आने के बाद भी सेवा फॉलोअप जारी रखा। बच्चे को आयरन सिरप, विटामिन ‘ए’ अनुपूरक, पोषक आहार, टीकाकरण कराया। माता को भी आयरन, कैल्शियम गोलियां तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से पोषण आहार दिलाती रही।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

कश्मीर में आतंकी हमले में टीवी एक्ट्रेस की मौत, 10 साल के भतीजे पर भी हुई फायरिंगसुरक्षा एजेंसियों ने यासीन मलिक की सजा के बाद जारी किया आतंकी हमले का अलर्टIPL 2022, LSG vs RCB Eliminator Match Result: पाटीदार के दम पर जीता RCB, नॉकआउट मुकाबले में LSG को 14 रनों से हरायाटेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.