CM शिवराज भी हैं किशोर कुमार के मुरीद, अकसर गुनगुनाते है ये खास गाना

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्श्व गायक किशोर कुमार को याद किया। उन्होंने न सिर्फ किशोर कुमार का गाना गाया, बल्कि गाने को खुद के लिये प्रेरणा स्त्रोत बताया।

By: Faiz

Published: 28 Aug 2021, 08:29 PM IST

खंडवा. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को पीएम आवास योजना के तहत कार्यक्रम को संबोधित करने खंडवा पहुंचे। यहां सभी को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने बॉलीवुड के बेहतरीन एक्टर, डायरेक्टर और पार्श्व गायक किशोर कुमार को याद किया। सीएम ने न सिर्फ किशोर कुमार का गाना गाया, बल्कि उनके इस गाने को खुद के लिये प्रेरणा बताया।


मुख्यमंत्री चौहान ने आगे कहा कि, ये एक बड़ा कार्यक्रम है, ये हो खंडवा में रहा है, लेकिन ये सिर्फ खंडवा का कार्यक्रम नहीं है, ये कार्यक्रम पूरे मध्य प्रदेश का है। सीएम चौहान ने किशोर कुमार द्वारा गाया गया प्रसिद्ध गाना 'रुक जाना नहीं तू कहीं हार के, कांटे पर चलकर मिलेंगे साए बहार के' गाया, बल्कि उन्होंने इस गाने को अपने लिये प्रेरणा स्त्रोत भी बताया। सीएम ने कहा कि, ये गाना मैं उस समय गुनगुनाता हूं, जब किसी तरह के संकट में होता हूं। इस गाने से मिलने वाली हिम्मत की ही वजह से किसी भी चुनौती पर नियंत्रण पा लेता हूं। ये गाना मुझे संबल देता है। इस दौरान सीएम शिवराज ने घोषणा भी की, कि खंडवा के इस रवींद्र भवन का नाम किशोर दा के नाम पर रखा जाएगा।


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, प्रदेश का कोई भी गरीब बिना छत के नहीं रहेगा। 2024 तक हम सभी गरीबों को मकान उपलब्ध करा देंगे। जिनके पास जमीन नहीं है, उन्हें पट्टे देकर घर बनाकर दिया जाएगा। कार्यक्रम में संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि, ये प्रदेश स्तर का आयोजन इस बार खंडवा में आयोजित किया जा रहा है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने सिंगल क्लिक से 1 लाख 29 हजार 292 हितग्राहियों के खाते में 627 करोड़ रुपए का वितरित किये। इस आयोजन में सागर से नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा भोपाल से वर्चुअल जुड़े थे।

 

पढ़ें ये खास खबर- BJP नेता का बड़ा बयान- जो 'भारत माता की जय' या 'वंदे मातरम' न बोले उसकी नागरिकता खत्म हो


संतों और ऋषियों की भूमि है खंडवा

भाषण में सीएम ने खंडवा को पावन भूमि बताते हुए कहा कि, ये संतों और ऋषियों की भूमि है। यहां संत सिंगाजी हैं, दादा धूनिवाले हैं। यहां ओंकारेश्वर-ममलेश्वर भी मौजूद हैं। इन सबके साथ ये किशोर कुमार की भी भूमि है।

 

पढ़ें ये खास खबर- शुरु हुआ डोर-टू-डोर वैक्सीनेशन : नाम-पते ढूंढकर घर पहुंच रही मोबाइल वैन, इनपर खास फोकस


हार-फूल नहीं लाने पर धन्यवाद

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि, खंडवा वालों को धन्यवाद देना चाहता हूं। क्योंकि यहां कोई फूल-माला नजर नहीं आई। कार्यकर्ताओं की भावनाओं का सम्मान करता हूं, लेकिन कोरोना अभी गया नहीं है। मैंने दो दिन पहले आग्रह किया था कि, मैं स्वागत नहीं कराउंगा, खंडवा वालों ने मेरी भावना को स्वीकार किया। इसपर मैं उनका धन्यवाद करता हूं।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned