ब्रेक के बाद शुरू हुआ कोरोना का कहर, लगातार तीसरे दिन मिले 8 मरीज

-चार दिन में 18 मरीज मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़कर हुआ 310
-औरंगाबाद से आए पिता-पुत्र ट्रू नॉट पर हुई जांच में मिले पॉजिटिव
-दो मरीज निजी डिस्पेंसरी के, चार मरीज पुराने मरीजों के कांटेक्ट ट्रेसिंग वाले

खंडवा.
कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने पर लगे ब्रेक के बाद एक बार फिर कोरोना संक्रमित मरीजों का आना शुरू हो गया है। रविवार को आई 162 संदिग्ध मरीजों के सैंपल रिपोर्ट में आठ मरीज पॉजिटिव और 154 मरीज निगेटिव पाए गए। पॉजिटिव मरीजों में चार मरीज पिछले दिनों आए संक्रमित मरीजों के हाई रिस्क कांटेक्ट वाले, दो निजी डिस्पेंसरी में जांच के बाद लिए गए सैंपल से और दो मरीज ओपीडी में हुए सैंपल के बाद ट्रू नॉट मशीन से जांच में सामने आए है। अब जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 310 हो गया है।
सीएमएचओ डॉ. डीएस चौहान ने बताया कि रविवार को मेडिकल कॉलेज लैब और नैदानिक केंद्र लैब से आई रिपोर्ट में 8 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। इसमें दो मरीज दुबे कॉलोनी के पास छोटा अवार और दो मरीज सैफी कॉलोनी के हाई रिस्क कांटेक्ट ट्रेसिंग में लिए गए सैंपल से मिले है। इसमें सैफी कॉलोनी निवासी एक बुजुर्ग नेत्रों से दिव्यांग है। वहीं, पड़ावा और पॉलीटेक्नीक कॉलेज कैंपस निवासी दो मरीज निजी डिस्पेंसरी से मिले है। इसमें पॉलीटेक्नीक कैंपस वाला मरीज कॉलेज का ही चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है। वहीं, महाराष्ट्र औरंगाबाद से आए मीठाराम नगर निवासी पिता-पुत्र की जांच जिला अस्पताल की ओपीडी में हुई थी। जहां उनके सैंपल लेकर ट्रू नॉट मशीन से जांच की गई थी। ट्रू नॉट मशीन से पहली बार पॉजिटिव मरीज ये पिता-पुत्र मिले हैं। सभी मरीजों को कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।
28 दिन में 60 मरीज मिले
अनलॉक होने के बाद जून माह में अब तक कुल 60 मरीज मिल चुके है। इसमें एक जून से 15 जून तक जहां 32 मरीज सामने आए थे। वहीं, बाकी 28 मरीज पिछले 13 दिन में मिले है। इसमें भी 18 मरीज तो पिछले चार दिनों में सामने आए है। जिसमें 25 जून को छह, 26 जून को तीन, 27 जून को एक और 28 जून को 8 मरीज शामिल है। जिला महामारी अधिकारी डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि लगातार सैंपलिंग होने से कोरोना संक्रमण का पता चल रहा है। ट्रू नॉट मशीन से सैंपल लेने के 6 घंटे में ही मरीज मिलने से तुरंत ही मरीज को भर्ती कराया गया है। इससे कोरोना पॉजिटिव मरीज अन्य मरीजों तक संक्रमण नहीं फैला सकते।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned