वेलेंटाइन डे पर जिनवर को किया जीवन समर्पित

-खालवा की प्रियंका ने ली जैन संत कान मुनि महाराज से दीक्षा
-वैराग्य के मार्ग पर अब जानी जाएंगी साध्वी प्रीति मसा के नाम से
-सांसारिक रिश्तों को भूल सिर्फ प्रभु की भक्ति में बिताएंगी जीवन

खंडवा. एक ओर जहां सारी दुनिया प्रेम दिवस के रूप में वेलेंटाइन डे मना रही थी। वहीं, खालवा ब्लॉक के सांवलीखेड़ा की बेटी प्रभु पे्रम के मार्ग पर अग्रसर हो गई। वेलेंटाइन डे पर सांवलीखेड़ा के अनिल भंडारी और प्रेमलता भंडारी की बेटी प्रियंका ने जिनवर को अपना जीवन समर्पित कर दिया। शुक्रवार को मुमुक्षु प्रियंका भंडारी ने जलगांव में जैन संत कान मुनि महाराज से दीक्षा ली। अब प्रियंका सांसारिक जीवन को छोड़कर प्रभु भक्ति और वैराग्य के मार्ग पर साध्वी प्रीति मसा के नाम से जानी जाएगी।
जलगांव (महाराष्ट्र) स्वध्याय भवन में स्थविर प्रमुख कानमुनि मसा एवं पंकजमुनि मसा आदि ठाणा 26 के सानिध्य में खंडवा जिले की ग्राम सांवलीखेड़ा की भंडारी परिवार की कुलदीपिका मुमुक्षु प्रियंका भंडारी की दीक्षा शुक्रवार सुबह 10.30 बजे संपन्न हुई। जिन्हें अब नए नामकरण अनुसार साध्वी प्रीति मसा के नाम से जाना जाएगा। दीक्षा अनुमोदनार्थ जैन श्वेतांबर श्री संघ खिरकिया से बसंतीलाल भंडारी, अनिल मुणोत, आशीष समदडिय़ा तथा वीरमाता प्रेमलता भंडारी, विमला रांका, कंचन भंडारी, मधु मेहता, प्रमिला भंडारी, लता मेहता, रजनी मेहता आदि उपस्थित रहे। साथ ही खंडवा क्षेत्र के पूर्व मंत्री वर्तमान विधायक विजय शाह के अलावा छनेरा, खालवा सांवलीखेडा, खंडवा, बीड़, मुंदी, बडवाह, इंदौर आदि अनेक जगह के गुरुभक्त उपस्थित रहे।
माता-पिता ने किए चरण स्पर्श
कल तक जो माता-पिता के चरण छूती थी अब वह दिन आ गया कि माता-पिता प्रियंका से बनी प्रीति मसा के छू रहे थे। दीक्षा समारोह में शामिल पूर्व मंत्री व विधायक विजय शाह ने मुखवस्त्रिका लगाकर अपने उद्बोधन में कहा कि दीक्षा विधि देखने व जानने का सुअवसर प्राप्त हुआ। निश्चित ही बहन ने क्षेत्र का नाम गौरव बढ़ाया। मैं सौभ्यागशाली हूं जो संत मुनिराजों के दर्शन के साथ नवदीक्षित प्रीति महाराज साहब के दर्शन एवं मंगल पाठ ग्रहण करने का सौभग्य प्राप्त हुआ। खंडवा के समाजसेवी प्रमोद जैन, सुनील जैन, गौरव जैन, चंद्रकांत सांड, अनुराग बसंल, जगदीशचंद्र चौरे, देवेंद्र जैन ने प्रीति मसा का वंदन करते हुए अनुमोदना की। इस अवसर पर धर्मदासगण के विभिन्न पदाधिकारी और मालवा, निमाड़, डूंगरपुर, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान आदि प्रांतों के अनेक संघों के श्रावक-श्राविका उपस्थित थे।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned