दिव्यांगजनों को बसों में 50 फीसदी छूट का नहीं मिल रहा फायदा

मप्र विकलांग मंच ने बस स्टैंड पर बसों का निरीक्षण

खंडवा. जिले में संचालित कई बसों में दिव्यांगजन को 50 फीसदी किराया छूट और दिव्यांग आरक्षित सीट रखने के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। दिव्यांगजन को बसों में सामान्य सीट या भीड़ में खड़े रहकर ही यात्रा करने को मजबूर है। जिसे लेकर मप्र दिव्यांग मंच में भारी आक्रोश है। किराये में 50 फीसदी और 5 आरक्षित सीट की स्थिति देखने को लेकर रविवार को मप्र विकलांग प्रदेश अध्यक्ष शिवकुमार बकोरिया के नेतृत्व में मप्र विकलांग (दिव्यांग) मंच के पदाधिकारी खंडवा बस स्टैंड का निरीक्षण किया। करीब 12 बसों में दोनों नियमों की स्थिति देखी।

मप्र शासन की अनुबंधित बस एमपी 10 पी 1423 सहित 9 बसों में दिव्यांगों के लिए आरक्षित सीट की सूचना चस्पा नहीं मिली। एक-दो बसों में ही दिव्यांगों के लिए आरक्षित सीट मिला। साथ ही किराये में दिव्यांग जनों को 50 फीसदी मिलने वाली छूट को लेकर भी बस ड्राइवर, कंडेक्टर से बातचीत की। कई ड्राइवर-कंडेक्टर, एजेंटों को जानकराी नहीं थी कि दिव्यांगों जनों को किराये में 50 फीसदी छूट मिलती है। शासन के आदेशों, नियमों का पालन नहीं करने से दिव्यांगजनों में गुस्सा है। प्रदेश अध्यक्ष बकोरिया ने बताया एआरटीओ से सोमवार को दिव्यांग मंच मिलेगा और नियमों का पालन न करने वाले बसों के ड्राइवर, कंडेक्टरों पर कार्रवाई की मांग करेंगा। इस अवसर पर कार्यकारिणी के आनंद मालाकार, जिला अध्यक्ष अखिलेश गुर्जर, कोषाध्यक्ष मनोज एकले, कार्यक्रम प्रभारी विपिन राठौड़, सक्रिय सदस्य रीना, सुरेश विश्वकर्मा, रविंद्र चौहान, आशा सोनी, रजाक खान सहित अन्य उपस्थित रहे।

dharmendra diwan Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned