डॉक्टर ने जंगल में कार रोक पत्नी की कर दी हत्या और फिर कार को नहर में कुदा दिया

मांधाता थाना क्षेत्र के ओंकारेश्वर-भोगांवा नहर में कार गिरने से हुई महिला की मौत का मामला, पीएम रिपोर्ट में हुआ हत्या का खुलासा, हत्या के समय साथ में कार में मौजूद मजदूर गौतम को उतार दिया था, डरा-धमकाकर दिलाए थे पुलिस को बयान

खंडवा. सनावद से ओंकारेश्वर जा रही कार नहर में गिरने से हुई महिला की मौत के मामले में खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला की हत्या की बात सामने आई है। महिला की हत्या उसके ही पत्नी ने गला दबाकर की थी। मामले में पुलिस ने पति के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार 25 दिसंबर की रात करीब 9.30 बजे सनावद की ओर आ रही कार अनियंत्रित होकर भोगांवा नगर में जा गिरी थी। घटना में कार में सवार ओंकारेश्वर निवासी कंपाउंडर अभिषेक पिता शिवकुमार चतुर्वेदी (38) और कर्मचारी किशोर गौतम पिता शिवशंकर (16) सुरक्षित नहर से बाहर निकल आए थे। लेकिन घटना में अभिषेक की पत्नी गरिमा चतुर्वेदी (30) की मौत हो गई थी। घटना की तफ्तीश में मामला संदेहास्पद सामने आया। मृत गरिमा के गले पर गला घोटने के निशान थे। जिसको लेकर मांधाता पुलिस ने गंभीरता से पोस्टमार्टम कराया। सोमवार रात आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गरिमा की मौत गला दबाने के कारण होना सामने आई। वहीं पुलिस ने कार में मौजूद गौतम से पूछताछ की तो घटनाक्रम की हकीकत सामने आ गई। इसके आधार पर पुलिस ने आरोपी पति अभिषेक के खिलाफ धारा 302 और 201 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। वहीं आरोपी अभिषेक को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी अभिषेक बीएएमएस की प्रैक्टिस कर रहा था।
जंगल में कार रोककर की थी पत्नी की हत्या
आरोपी पति अभिषेक अपनी पत्नी गरिमा और मजदूर गौतम केवट को कार (एमपी 12 सीए 4274) में लेकर घर की ओर जा रहा था। भोगांवा के पास जंगल के रास्ते में सूनसान क्षेत्र में कार रोकी और मजदूर गौतम को कार से उतार दिया। वहीं पत्नी गरिमा की गला दबाकर हत्या कर दी। घटनाक्रम के दौरान गरिमा बचाओ बचाओ चिल्लाती रही, लेकिन जंगली क्षेत्र होने के कारण किसी ने आवाज नहीं सुनी। इसके बाद आरोपी अभिषेक कार को भोगांवा नहर के पास ले गया और नहर में कूदा दी। घटना के दौरान आरोपी ने अपना कांच खुला रखा था। इसके सहारे वह पानी के बीच से बचकर सुरक्षित किनारे आ गया।
गौतम का डराया और दिलाए थे झूठे बयान
घटना की खबर मिलते ही मांधाता पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान आरोपी पति और मजदूर गौतम ने कार का टायर फटने से दुर्घटना होने बताई। लेकिन जांच में कार के टायर पुलिस को सुरक्षित मिले और मौके पर कोई भी दुर्घटना जैसी स्थिति नहीं मिली। आरोपी ने गौतम को डरा धमकाकर पुलिस के सामने झूठे बयान दिलाए थे। लेकिन संदेह होने पर पुलिस ने गौतम से पूछताछ की। पूछताछ में गौतम ने घटनाक्रम की हकीकत पुलिस को बताई। गरिमा की हत्या होने की बात सुनते ही पुलिस ने मामले में जांच शुरू की और पीएम रिपोर्ट में गरिमा की हत्या का खुलासा हुआ।

रास्ते में उतारा और बोला कपड़े गीले कर लो
घटनाक्रम पर संदेह होते ही पुलिस ने गौतम से पूछताछ की। जिसमें गौतम ने बताया कि कार से घर की ओर जा रहा था। तभी जंगल में अचानक अभिषेक ने मुझे कार से उतार दिया। इस दौरान उसने पत्नी गरिमा की गला दबाकर हत्या कर दी। कुछ देर बाद वापस बुलाकर कार में बैठा लिया। वहीं नहर के पास जाकर फिर उतारा और बोला कपड़े गीले कर लो। साथ ही गाड़ी की रफ्तार कम की और कांच खोल लिए। इसके बाद कार को नहर में कुदा दिया। घटनाक्रम के बाद में डरा था। आरोपी अभिषेक ने जैसा बोला वैसा पुलिस को बता दिया। मामले में गौतम पुलिस की ओर से मामले में सरकारी गवाह बना है।
इसलिए पुलिस को हुआ संदेह
नहर में कार गिरने की खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। घटनाक्रम की तफ्तीश शुरु की। एसपी विवेक सिंह मौके पर पहुंचे। लेकिन घटना की जांच ेमें सामने आया कि कार का कोई भी टायर नहीं फटा है। वहीं मौके पर कोई भी दुर्घटना जैसे रगड़ के निशान नहीं मिले। इसके अलावा पोस्टमार्टम के दौरान मृत गरिमा के गले पर गला घोटने के निशान मिले। इसी को देखकर पुलिस को घटनाक्रम में संदेह हुआ है और जांच की तो हत्या सामने आई।
परिजन बोले अभिषेक अक्सर करता था गरिमा से विवाद
मामले में पुलिस ने मृत गरिमा के परिजन के बयान लिए। मायके पक्ष के लोगों ने अभिषेक पर आरोप लगाए। उन्होंने कहा आरोपी अभिषेक अक्सर गरिमा से विवाद करता था। वह गरिमा से छुटकारा पाना चाहता था। दोनों के बीच विवाद चल रहा था। इसी कारण उसने गरिमा की हत्या की है। मामले में पुलिस ने पीएम रिपोर्ट और परिजन के बयान के आधार पर आरोपी कंपाउंडर अभिषेक के खिलाफ धारा 302 और 201 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। साथ ही आरोपी अभिषेक को गिरफ्तार कर लिया गया है।
वर्जन...
नहर में गिरी कार में हुई महिला की मौत के मामले में पीएम रिपोर्ट में महिला की हत्या होना सामने आया है। घटना के पहले ही महिला की मौत हो चुकी थी। मामले में आरोपी पति ने ही अपनी पत्नी की हत्या कर कार को नहर में कुदाता था। साक्ष्यों के आधार पर आरोपी पति के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया है।
राकेश कुमार पंद्रो, एसडीओपी, मूंदी

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned