नाली चोक होने से सड़क नाले में तब्दील

सड़क पर गंदगी होने से राहगीर और व्यापारी परेशान

By: tarunendra chauhan

Published: 28 Oct 2020, 07:51 PM IST

खंडवा. जिले की सबसे बड़ी व सालाना लाखों की आय वाली ग्राम पंचायत बोरगांव बुजुर्ग मे जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते ग्रामीण कोरोना काल मे भी गंदगी से जूझ रहे हंै। मंगलवार सुबह मां बागेश्वरी चौक में नाली चोक होने से गंदा पानी सड़क पर जमा हो गया। ये गांव की मुख्य सड़क ह, जिसके चलते घंटो तक लोग इस गंदे पानी से होकर गुजरते रहे। भड़के मोहल्लेवासियों ने सरपंच व सचिव को फोन के माध्यम से वस्तुस्थिति से अवगत कराया, जिसके बाद पंचायत ने एक सफाइकर्मी को भेज चोक पड़ी नाली से कचरा निकलवाया, जिसके बाद सड़क से गंदा पानी नालियों में बहने के बाद लोगों को राहत मिली।

आक्रोशित दुकानदारों ने इस दौरान सरपंच व सचिव सहित वरिष्ठ अधिकारियोंं व जनप्रतिनिधियों पर कई आरोप लगाए। दुकानदार लोकेश गुप्ता ने कहा कि बोरगांव बाजार में ये स्थिति हमेशा निर्मित होती है और पंचायत शिकायत के बाद एक सफाइकर्मी को भेज चोक पड़ी नाली की सफाई कर गंदे पानी को निकाल देती है। बार-बार शिकायत के बाद भी सरपंच व सचिव इस समस्या का कोई स्थाई समाधान नहीं निकाल रहे हंै। उन्होंने कहा कि जब भी शिकायत करो सिर्फ आश्वासन मिलता है, यहां तक कि वरिष्ठ अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हंै। मंगलवार को मां बागेश्वरी चौक में जहां नाली का गंदा पानी जमा हुआ था, वहीं नलजल योजना का वाल्व लगा है, जिसमें गंदा पानी समा रहा था और बाद मे नल से पानी छोडऩे पर कई तरह की बीमारियों को लेकर ग्रामीणों के घर तक पहुंच रहा है।

दुकानदारों ने ही कर रखा है अतिक्रमण
बाजार में बार-बार नाली चोक होने का मुख्य कारण दुकानदारों द्वारा नालियों पर किया गया अतिक्रमण है। अतिक्रमण के कारण सही तरह से सफाई नहीं हो पाती है। हमने शासन को अतिक्रमण हटाने के लिए लिखित शिकायत कर दी है और वैसे भी दुकानदारों द्वारा फेंका कचरा ही नाली में फंसने से समस्या उत्पन्न होती है। ग्रामीण भी अपना फर्ज समझें।
- रणजीत सिंह राठौर, सचिव ग्राम पंचायत बोरगांव बुजुर्ग

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned