नशे में धुत युवक पहुंचा थाने, खुद को मारी ब्लेड

पत्नी से पीडि़त युवक केस दर्ज कराने किया हंगामा

By: tarunendra chauhan

Published: 14 Sep 2021, 01:51 PM IST

खंडवा. जिस प्रेमिका की खातिर युवक ने अपने ही भाई के घर चोरी की घटना को अंजाम दिया था, उससे शादी के तीन माह बाद ही प्रताडि़त होकर केस दर्ज कराने थाने पहुंच गया। सोमवार दोपहर को कोतवाली थाना परिसर में शराब के नशे में एक युवक ने जमकर हंगामा किया। उसने अपने ही हाथ पर ब्लेड भी मार ली। पुलिस ने नशा उतरने तक थाने में बिठाया तो वहां से भी भाग निकला। लोगों ने पकडकऱ फिर पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने फिलहाल उसके खिलाफ प्रतिबंधात्मक धारा 151 में कार्रवाई कर जेल भिजवाया।

माता चौक पर किराए का मकान लेकर रह रहा देवेंद्र सावनेर सोमवार दोपहर नशे की हालत में थाने पहुंचा और अपनी पत्नी के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग करने लगा। पुलिस ने नशे की हालत में देख उसे बाहर बैठने को कहा। इस बीच थाना परिसर में ही देवेंद्र ने अपने हाथ पर ब्लेड मार ली, हालांकि घाव बहुत ही मामूली था, लेकिन पुलिसकर्मी उसकी स्थिति देखते हुए मेडिकल के लिए अस्पताल ले गए। यहां भी देवेंद्र ने हंगामा किया, जिसके बाद वापस उसे थाने लाया गया, ताकि नशा उतरने के बाद समझाइश देकर घर भेज सके। नशे में देवेंद्र बार-बार अपनी पत्नी को मारने की बात करता रहा और अचानक दौड़ लगाकर थाने से निकल गया। कोई घटना न कारित कर दे, इसके लिए पुलिस भी उसके पीछे भागी।

लोगों ने उसे भागता देख पकड़ा और पुलिस के हवाले किया। कोतवाली टीआइ बलजीतङ्क्षसह बिसेन ने बताया कि देवेंद्र सावनेर का एक शादीशुदा महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था। अपनी गृहस्थी बसाने के लिए उसने जून माह में शिवाजी नगर में अपने ही भाई के घर चोरी की घटना को अंजाम दिया था। चोरी के रुपए से उसने गृहस्थी का सामान भी खरीद लिया था। इस मामले में पुलिस ने उसे पकड़ा भी था, लेकिन भाई द्वारा ही जमानत देकर छुड़वा लिया था। तब से देवेंद्र उक्त महिला के साथ ही रह रहा था। तीन माह में ही दोनों के बीच झगड़े शुरू हो गए और देवेंद्र शराब पीकर विवाद करने लगा। पुलिस को डर था कि कहीं देवेंद्र उक्त महिला के साथ कोई घटना न करे दे, इसके लिए उसके खिलाफ 151 में कार्रवाई की गई।

Show More
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned