मुस्कुरा रही प्रकृति : जून की गर्मी में सुकून दे रहे झरने

Rajiv Jain | Updated: 04 Jun 2019, 06:55:32 PM (IST) Khandwa, Khandwa, Madhya Pradesh, India

खंडवा मुख्यालय से 91 किमी दूर चांदगढ़ रेंज के घने जंगलों में प्राकृतिक झरने सुकून की बयार बिखेर रहे हैं। जंगल के बीचोंबीच जयंती माता मंदिर से करीब 200 फीट नीचे प्राकृतिक झरने लोगों को खासा आकर्षित कर रहे हैं।

खंडवा. जून की भीषण गर्मी में जहां शहर में लोग तपन से झुलस रहे हैं। वहीं मुख्यालय से 91 किमी दूर चांदगढ़ रेंज के घने जंगलों में प्राकृतिक झरने सुकून की बयार बिखेर रहे हैं। जंगल के बीचोंबीच जयंती माता मंदिर से करीब 200 फीट नीचे प्राकृतिक झरने लोगों को खासा आकर्षित कर रहे हैं। यहां पहुंचकर पर्यटक जंगल में स्वतंत्र विचरण के साथ-साथ वन्य प्राणियों को भी निहारने का आनंद उठा सकते हैं।

 

 

  <a href=Chandgarh punasa Jayanti Mata waterfall khandwa" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/06/04/_dsc0611_4665503-m.jpg">
Chandgarh Punasa Jayanti Mata waterfall khandwa IMAGE CREDIT: patrika

12 महीने अनवरत बहते हैं झरने
इंदिरा सागर बांध के कैचमेंट एरिया के बाद चांदगढ़ रेंज के घने जंगलों वाले ये प्राकृतिक झरने जून की तपाने वाली गर्मी में भी सुकून दे रहे हैं। घने जंगल और मानव के कम हस्तक्षेप के चलते वन विभाग के अधीन के इस इलाके में भीषण गर्मी हो या अल्प वर्षा में ये झरने 12 महीने अनवरत बहते हैं। जंगल के अन्य क्षेत्र में जहां गर्मी के कारण पतझड़ और सभी जलस्रोत सूखे नजर आते हैं। वहीं जयंती माता मंदिर के पास हरियाली और प्राकृतिक झरनों का नजारा आंखों और मन को सुकून देता है। भीषण गर्मी में सुकून पाने के लिए यहां सैकड़ों पर्यटक पहुंच रहे हैं। झरने का उद्गम इस प्वाइंट से करीब दो किलोमीटर पहले हैं, जहां से पानी रिसकर समतल जमीन पर बहता है। दोनों ओर पेड़ों की छांव ऐसी है कि यहां जो भी पर्यटक पहुंचता है वह इस प्राकृ तिक नजारे में विचरण करने से खुद को नहीं रोक पाता है। अवकाश के साथ यहां माता की आरती वाले दिन मंगलवार को खासी भीड़ रहती है।

Jayanti Mata waterfall khandwa
Jayanti Mata waterfall khandwa IMAGE CREDIT: patrika

ऐसे पहुंच सकते हैं
खंडवा से पुनासा 53 किमी जाकर इंदिरा सागर डेम के रास्ते सतवास मार्ग पर करीब 20 किमी चलना होगा। यहां बाईं ओर वन विभाग की चौकी से 17 किमी दूर जंगल के कच्चे रास्तों के बीच पैदल या वाहन से जयंती माता तक जा सकते हैं। यहां से करीब 300 मीटर पैदल चलकर इस झरने तक पहुंच सकते हैं। वहीं बड़वाह से कनेरी नदी होते हुए 30 किमी और सतवास से 60 किमी की दूरी तय कर यहां तक पहुंचा जा सकता है।

Chandgarh Punasa Jayanti Mata waterfall khandwa
Chandgarh Punasa Jayanti Mata waterfall khandwa IMAGE CREDIT: patrika

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned