उत्कृष्ट स्कूल के छात्र ने पूछे दो सवाल, सीएम ने दिए ये जवाब

छू लेंगे आसमां कार्यक्रम...जिला मुख्यालय के उत्कृष्ट स्कूल में हुआ लाइव प्रसारण।

By: अमित जायसवाल

Published: 22 May 2018, 12:23 PM IST

खंडवा. कॅरियर काउंसलिंग कार्यक्रम छू लेंगे आसमां के तहत शहर सहित जिले के सभी उत्कृष्ट स्कूलों में भोपाल से सीएम शिवराजसिंह चौहान के संबोधन और विद्यार्थियों से उनके वन-टू-वन का लाइव प्रसारण किया गया।

छू लेंगे आसमां कार्यक्रम के तहत सोमवार को सीएम शिवराजसिंह चौहान से खंडवा के उत्कृष्ट स्कूल से इसी साल 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र हरिओम भगवानदास शाह ने दो सवाल पूछे। छात्र ने पूछा कि वाणिज्य के क्षेत्र में कौन-कौन से पाठ्यक्रम हैं? और उच्च शिक्षा के लिए सरकार द्वारा कौन-कौन सी सहायता मिल सकती है। छात्र हरिओम के सवालों के जवाब भी तत्काल दिए गए। इनमें सीएम ने कॉमर्स संकाय और उच्च शिक्षा में सहायता से संबंधित जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री प्रतिभावान-मेधावी योजना की जानकारी दी। प्राचार्य जेके बाथरी, दिलीप कर्पे, संजीव मंडलोई, शिक्षक संदीप जोशी सहित अन्य की मौजूदगी में उत्कृष्ट स्कूल खंडवा में ४ कमरों में टीवी और एक हॉल में एलईडी पर लाइव प्रसारण हुआ। जिलेभर के उत्कृष्ट स्कूलों में हुए प्रसारण में १०५४ छात्र-छात्राएं शामिल हुए। बता दें कि 70 या इससे अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों के लिए ये कार्यक्रम किया गया।

यहां इतने विद्यार्थी मौजूद रहे
बलड़ी 009
छैगांव 150
हरसूद 075
खालवा 100
खंडवा 455
पंधाना 090
पुनासा 175

काउंसिलिंग होगी
12वीं कक्षा उत्र्तीण करने वाले छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा में किस विषय या संकाय के साथ आगे बढ़ें, इसके लिए काउंसिलिंग होगी। शिक्षा विभाग ने हर जिले के लिए मास्टर्स ट्रेनर तैयार किए हैं।

...इधर, कॉलेज में प्रवेश के लिए लिंक खुलने का इंतजार
उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी व निजी कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया के लिए फिलहाल कार्यक्रम जारी नहीं किया है। लेकिन 21 मई से प्रवेश के लिए लिंक ओपन होने के मौखिक आदेश कॉलेजों तक पहुंचाए गए थे। सोमवार को लिंक खुलने का इंतजार खत्म नहीं हुआ। इधर, उच्च शिक्षा विभाग ने सत्र 2018-19 के लिए प्रवेश प्रक्रिया में कुछ संशोधन किए हैं। इन्हें लागू करते हुए इसके आदेश भी जारी कर दिए हैं। बड़ी बात ये है कि पहले चरण में सभी वर्गों की छात्राओं को रजिट्रेशन शुल्क नहीं देना पड़ेगा। अगर कोई छात्रा प्रथम से अन्य चरण में रजिस्ट्रेशन करवाती है तब निर्धारित शुल्क लिया जाएगा। इधर, रजिस्टर्ड असंगठित कर्मकार के बच्चों को यूजी व पीजी दोनों नियमित पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने पर शैक्षणिक शुल्क से छूट मिलेगी। यूजी और पीजी कक्षाओं में अधिकतम आयु सीमा का बंधन समाप्त कर दिए जाने से भी फायदा मिलेगा।

अमित जायसवाल Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned