scriptExpose: Scene of crime unit of all four districts of Nimar empty | एक्सपोज: निमाड़ के चारों जिलों की सीन ऑफ क्राइम मोबाइल यूनिट खाली | Patrika News

एक्सपोज: निमाड़ के चारों जिलों की सीन ऑफ क्राइम मोबाइल यूनिट खाली

आरक्षकों के भरोसे चल रहा यूनिट काम, जरूरत पड़ने पर नहीं मिल पा रही फॉरेंसिक अधिकारी की मदद, विभाग ने मुख्यालय अटैच कर दिए वैज्ञानिक अधिकारी

खंडवा

Published: May 30, 2022 11:38:44 am

खंडवा. अपराध अन्वेषण में सहायक भूमिका निभाने वाली फॉरेंसिक विज्ञान शाखा की सीन ऑफ क्राइम मोबाइल यूनिट अधिकारी विहीन हैं। एक जानकारी के मुताबिक निमाड़ के चारों जिले खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर और बड़वानी में अब फॉरेंसिक जांच के लिए कोई वैज्ञानिक अधिकारी नहीं हैं। इन यूनिट के लिए एक वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी, दो वैज्ञानिक अधिकारी सहित तकनीकी सहायक, एक फोटोग्राफर, एक लिपिक और एक वाहन चालक का पद स्वीकृत हैं, लेकिन निमाड़ के जिलों में यह सभी पद खाली हैं। कामचलाऊ व्यवस्था के तहत जिलों की यूनिट में आरक्षक तैनात किए गए हैं। आवश्यकता पड़ने पर नजदीकी जिले से भी मदद की कोई उम्मीद नहीं है।
अटैच के बाद कर दिया तबादला
बता दें कि सीन ऑफ क्राइम मोबाइल यूनिट खंडवा में वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. विकास मुजाल्दा पदस्थ थे, जिनके पास बुरहानपुर जिले का भी प्रभार रहा। खरगोन में डॉ. रोहित मकवाना और बड़वानी में डॉ. बीएस बघेल की तैनाती थी। इनमें डॉ. मुजाल्दा को तीन महीना पहले 7 मार्च को अटैच करने के बाद आरएफएसएल राऊ इंदौर कार्यालय के लिए तबादला कर दिया गया। जबकि खरगोन और बड़वानी के वैज्ञानिक अधिकारी अभी भी अटैच हैं।
क्राइम सीन पर जरूरी हैं वैज्ञानिक अधिकारी
वैज्ञानिक अधिकारियों को अटैच करने के बाद उनकी वापसी नहीं की गई और ना ही किसी अन्य वैज्ञानिक अधिकारी को निमाड़ में भेजा गया। जानकार बताते हैं कि फरियादी को न्याय दिलाने के लिए क्राइम सीन पर फॉरेंसिक अधिकारी की मौजूदगी महत्वपूर्ण मानी जाती है। किसी अपराध में साक्ष्य संकलन और उनकी स्पष्टता बेहद जरूरी होती है।
अब अंदाज से चल रहा काम
हत्या, संदिग्ध मृत्यु या अन्य आपराधिक प्रकरणों में सीन ऑफ क्राइम यूनिट की मदद ली जाती है। लेकिन वैज्ञानिक अधिकारियों को जिलों से भोपाल, इंदौर की प्रयोगशाला में बुला लेने के बाद अब अंदाज से ही काम चल रहा है। जो किसी अपराध के अन्वेषण में नाकाफी ही माना जाएगा। एक अनुमान के मुताबिक प्रत्येक जिले में प्रतिमाह करीब 20 प्रकरण ऐसे आते हैं जिनमें वैज्ञानिक अधिकारी की आवश्यकता होती है। कुछ मामलों में तो क्राइम सीन पर जाना जरूरी होता है।
वर्जन...
मप्र के ज्यादातर जिलों की सीन ऑफ क्राइम यूनिट में वैज्ञानिक अधिकारी नहीं हैं। मुख्यालय के आदेश पर सभी को प्रयोगशाला में लंबित प्रकरणों के निराकरण में लगाया है। आवश्यकता पड़ने पर धार या इंदौर से फॉरेंसिक अधिकारी को बुलाना पड़ता है।
- तिलक सिंह, डीआइजी, खरगोन रेंज
Expose: Scene of crime unit of all four districts of Nimar empty
Expose: Scene of crime unit of all four districts of Nimar empty

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: बीजेपी की कोर ग्रुप की बैठक खत्म, रवि शंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से पूछा बीजेपी के साथ क्यों आए थे?Bihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चाBihar Politics: 2024 में नीतीश कुमार नहीं होंगे विपक्ष के पीएम उम्मीदवार, कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर खोला राज'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपJharkhand News: रांची के बुंडू में सड़क हादसा, ट्रक ने छात्राओं को रौंदा, 3 बच्चों की मौत, 1 घायलबिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल का आरोप, नीतीश कुमार ने NDA और BJP को धोखा दियाMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.