क्रेन से बाइक जब्त होने पर देना होगा 200 रुपए अतिरिक्त जुर्माना, सांसद बोले- पहले पार्किंग की व्यवस्था करो

सड़क सुरक्षा समिति की बैठक, पुराने निर्णयों पर अमल की अफसरों ने दी खानापूर्ति की रिपोर्ट
सांसद बोले-पहले शहरवासियों को पार्र्किंग की व्यवस्था दो फिर जुर्माने की बात करो
विधायक ने कहा-आबकारी विभाग की पूरी जगह खाली करा दो तो पार्र्किंग की समस्या का हल होगा

खंडवा. जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में शनिवार को जनप्रतिनिधियों ने अव्यवस्थित यातायात से जूझ रहे शहरवासियों की समस्याओं को महसूस कर पार्र्किंग व्यवस्था से लेकर ट्रैफिक दबाव कम करने पर जोर दिया। वहीं नौकरशाह इस समस्या पर खानापूर्ति करते नजर आए, लेकिन जब सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि बैठक में पार्र्किंग समस्या पर मंथन कर स्थलों को तलाशें तो ही इस बैठक का कोई मतलब निकलेगा। इसके बाद अफसर हरकत में आए और शहर के पांच चिह्नित पार्र्किंग स्थलों पर मंथन शुरू हुआ। पार्किंग बनाने में आ रही अड़चनों पर बात हुई। इस दौरान विधायक देवेंद्र वर्मा ने कहा आबकारी विभाग की पूरी जगह मिल जाए तो बाजार में पार्र्किंग की समस्या का हल हो सकता है। व्यवस्थित पार्र्किंग बनाने के लिए इन स्थानों का अफसर निरीक्षण कर आगामी निर्णय लेंगे। वहीं नो-पार्र्किंग और सड़क पर खड़े होने वाले वालों का क्रेन से जब्त किया जाएगा। बैठक क्रेन से कार्रवाई होने पर अतिरिक्त जुर्माना तय किया। इसके अलावा मुख्य बाजार की सड़कों पर पार्किंग और स्टॉप लाइन डालने के नगर निगम को निर्देश दिए। इधर, बैठक के बाद शाम को कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल और एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह सड़क पर उतरे और चिह्नित पार्र्किंग स्थलों का जायजा। यहां बता दें शहर के अव्यवस्थित यातायात और पार्र्किंग की समस्या को लेकर पत्रिका मुहिम चलाकर लगातार खबरों को प्रकाशित कर रहा है।

बैंकों की पार्र्किंग शिफ्ट कराएं, ग्राहकों को जगह मिले
विधायक देवेंद्र वर्मा ने बैठक में कहा शहर के बैंकों के बाहर पार्र्किंग की समस्या हो रही। जबकि बैंक के पास पार्र्किंग की जगह है। लेकिन वह अपने वाहन खड़े कर उसे बंद कर देते हैं। इस उपभोक्ता सड़क पर वाहन खड़े कर रहा है। इस कलेक्टर सुन्द्रियाल ने सभी बैंकों के अधिकारियों की बैठक बुलाकर पार्र्किंग व्यवस्था को दुरुस्त कराने का निर्णय लेने की बात कही।

बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा
पार्र्किंग स्थल: शहर में पार्र्किंग समस्या का समाधान करने के लिए घंटाघर चौक, अनाज मंडी परिसर, आबकारी विभाग परिसर, शिवाजी चौक स्थित मेन हिंदी स्कूल परिसर और दधीचि पार्क में पार्र्किंग कराने पर मंथन हुआ। इसमें नगर निगम ने पार्र्किंग व्यवस्था शुरू कराने में कई पेंच बता दिए। लेकिन सांसद चौहान ने शहर में पार्र्किंग की उचित व्यवस्था कराने जाने की बात कही। इसके लिए पेड पार्र्किंग भी शुरू कराने का बोला।

पार्र्किंग लाइन: एसपी डॉ. सिंह ने नगर निगम आयुक्त हिमांशु सिंह से मुख्य बाजार की सड़कों पर पार्र्किंग लाइन और स्टॉप लाइन डलवाएं। इस पर आयुक्त पेंच फंसाते हुए बोले सड़क का मरम्मत कार्य चल रहा है। पूरा होने के बाद डलवा देंगे। लेकिन एसपी ने तत्काल प्रभाव से बाजार में लाइनिंग कराने के निर्देश दिए।
क्रेन का जुर्माना: यातायात पुलिस क्रेन की मदद से नो-पार्र्किंग में खड़े दो और चार पहिया वाहनों को जब्त की कार्रवाई कर रही है। अतिरिक्त जुर्माने पर चर्चा हुई। सांसद सिंह फिर बोले पहले पार्र्किंग की व्यवस्था कराओ फिर जुर्माने की बात करें। लेकिन सर्वसहमति से क्रेन से जब्त बाइक पर 200 रुपए और कार एक हजार रुपए जुर्माना तय हुआ। मोटर व्हीकल एक्ट का जुर्माना इससे अलग रहेगा।

व्यापारियों के वाहन: बॉम्बे बाजार में पार्र्किंग की समस्या को देख दुकानदारों के वाहन गांजा गोदाम में पार्र्किंग स्थल बनाकर खड़े कराने पर चर्चा की गई। ताकि दुकानों पर आने वाले ग्राहकों को वाहन खड़े करने की जगह मिल सके। वहीं सड़क पर वाहन होने से जाम जैसी स्थितियों से निजात मिल सके।
ब्लैक स्पॉट: शहरीय क्षेत्र में 11 चिह्निंत ब्लैक स्पॉट हैं। इनमें पेड़ व झाडिय़ों के कारण विजिबिल्टी प्रभावित हो रही है। इन स्पॉट पर पेड़ों व झाडिय़ों की छंटाई कराने के लिए एमपीआरडीसी के अफसरों को निर्देश दिए गए। जिम्मेदारों ने रविवार से कार्य शुरू कराने की बात कही।

शिवाजी चौक का बाजार: गुरुवार को शिवाजी चौक से इमलीपुरा मार्ग पर लगने वाले बाजार से यातायात व्यवस्था बिगडऩे का मुद्दा निगम आयुक्त सिंह ने उठाया। इसे पहले नेहरू स्कूल में शिफ्ट करने की बात रखी गई। लेकिन विधायक बोले- स्कूल के मैदान में बाजार नहीं लगा सकते। इस बाजार को इतावारा बाजार परिसर में शिफ्ट कराया जा सकता है।
ट्रैफिक पार्क: शहर में लंबित ट्रैफिक पार्क के निर्माण को लेकर चर्चा हुई। लेकिन पार्क की जगह स्वीकृत होने के पांच वर्ष बाद अब इस जगह पर आपत्ति ली गई। कलेक्टर बोली- वन विभाग के सामने स्थित जमीन पर पार्क बनाया गया तो कौन देखने आएगा। अधिकारी ही आते-जाते समय देखेंगे।

कलेक्टर-एसपी ने किया पार्र्किंग स्थलों का निरीक्षण
सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सांसद सिंह के पार्र्किंग व्यवस्था को दुरुस्त करने की पहल के बाद शाम 6 बजे कलेक्टर सुन्द्रियाल और एसपी डॉ. सिंह टीम के साथ सड़क पर उतरे। इस दौरान उन्होंने चिह्निंत पार्र्किंग स्थलों का जायजा लिया और बाजार में यातायात व्यवस्था सुधारने की संभावनाएं तलाशी।

आबकारी विभाग: यातायात और निगम की टीम के साथ आबकारी विभाग पहुंचकर कलेक्टर व एसपी ने परिसर में गांजा गोदाम के पुराने शेड का जायजा लिया। वहीं आबकारी अफसरों को आठ दिनों में शेड का सामान शिफ्ट कराने के निर्देश दिए। साथ ही जरूरी दस्तावेजी कार्रवाई करने की बात कही।
पुरानी अनाज मंडी: अनाज मंडी परिसर का भ्रमण कर मंडी को पूरी तरह नई अनाज मंडी में शिफ्ट कराने की बात कही। वहीं मंडी की जगह को डि-नोटीफाइड कराने की प्रक्रिया शुरू कराने के निर्देश दिए। इस स्थान पर आमदिनों में पार्र्किंग व्यवस्था और रविवार को इतवारा बाजार लगाया जाएगा।
घंटाघर चौक: कलेक्टर व एसपी ने घंटाघर चौक पर पहुंच कहा घंटाघर पार्क एतिहासिक है। इसे तोडऩा उचित नहीं। यदि तोडफ़ोड़ करेंगे तो भी लोग यहां अतिक्रमण कर लेंगे। उन्होंने निगम को चौक के दोनों ओर लगी दुकानें और हाथठेलों को व्यवस्थित कराने के निर्देश दिए। ताकि लोगों को वाहन पार्र्किंग की जगह मिल सके।

दधीचि पार्क पर औपचारिकता, जगह होने पर भी सख्ती नहीं
सिनेमा चौक स्थित दधीचि पार्क तोड़कर निगम ने पार्र्किंग स्थल बनाया था। यहां पार्र्किंग को लेकर बैठक में औपचारिक चर्चा हुई। लेकिन परिसर में नगर निगम द्वारा कराया गया अतिक्रमण हटाने पर जिम्मेदार अफसर चुप्पी साधे रहे। किसी ने भी इस जमीन पर अस्थाई अतिक्रमण हटाने की बात पर जोर नहीं दिया। जबकि यहां दो और चार पहिया 500 से अधिक वाहनों की पार्र्किंग हो सकती है। लेकिन इस समय दुकानें लगी हुई हैं।

जितेंद्र तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned