कोरोना संक्रमित आरोपी को कोर्ट लेकर पहुंचा वन अमला, फिर हुआ ये

91 अतिक्रमणकारियों की जांच में चार लोगों की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव

 

By: tarunendra chauhan

Updated: 08 Oct 2020, 01:15 PM IST

खंडवा. वन परिक्षेत्र खालवा के सरमेश्वर के जंगल में अतिक्रमण की नियत से घुसते पकड़ाए 91 अतिक्रमणकारियों की कोरोना जांच में चार आरोपियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें तीन आरोपी जेल में बंद है। वहीं एक आरोपी तीन दिन की रिमांड पर था। आरोपियों में संक्रमण की पुष्टि होने की खबर मिलते ही वन अमले में हड़कंप मच गया। क्योंकि कार्रवाई के दौरान वन अधिकारियों से लेकर वनरक्षक भी इनके संपर्क में आए थे।

इतना ही नहीं पॉजिटिव आए आरोपियों में से एक आरोपी रिमांड पर था। उसे वन परिक्षेत्र खालवा में रखा गया था। उससे अधिकारी लगातार पूछताछ कर रहे थे। वहीं बुधवार को संक्रमित आरोपी की रिमांड खत्म होने पर वन अधिकारी उसे कोर्ट पेश करने लेकर पहुंचे। लेकिन इस दौरान कोरोना संक्रमण की रोकथाम के नियमों का उल्लंघन किया गया। स्थिति यह थी कि संक्रमित आरोपी को पीपीई किट पहनाई गई। लेकिन वाहन चला रहे चालक व अन्य साथ में आए कर्मचारियों ने सिर्फ मॉस्क लगा रखा था। आरोपी को लेकर वह इधर-उधर घूमते रहे। इधर, कोर्ट ने मामले में वीडियो कॉलिंग के माध्यम से सुनवाई की। इसके बाद संक्रमित आरोपी को आइसोलेट कराया गया।

3 अक्टूबर को वन विभाग ने सरमेश्वर के जंगल में घुसते हुए 91 अतिक्रमणधारियों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया था। सभी आरोपियोंं को एक की कमरे में रखा गया था। इस दौरान मुख्य आरोपियों के संपर्क में डीएफओ, एसडीओ, रेंजर सहित अन्य कर्मचारी आए थे।

तीन-तीन हजार रुपए लेकर करते थे सौदा
रिमांड के दौरान पूछताछ में मुख्य आरोपी रमेश पिता सुरसिंह, फैंदा पिता गुंदराम सहित अन्य ने 7 और 14 सितंबर को सरमेश्वर व ताल्याधड़ के जंगल में की गई अवैध कटाई की वारदात में शामिल होने की बात कबूली है। साथ ही उन्होंने स्थानीय मददगारों के नाम विभाग के सामने उगले है। उन्होंने कहा जंगल में अतिक्रमण करने के लिए जगह दिलाने के लिए वह स्थानीय लोगों से सौदा करते थे। इसके लिए प्रत्येक अतिक्रमणधारी से तीन-तीन हजार रुपए लिए जाते थे।

पूछताछ में आरोपियों ने जंगल में अवैध कटाई की बात कबूली है। वहीं पॉजिटिव आए आरोपियों में तीन जेल में है। एक रिमांड पर था। उसे पीपीई किट पहनाकर सुरक्षित न्यायालय ले जाया गया था। वीडियो कॉलिंग से सुनवाई होने के बाद आइसोलेट कराया है। वहीं जिस कक्ष में उसे रखा गया था उसे सैनेटाइज कराया है। कर्मचारी संक्रमित से दूरी बनाए हुए थे।
आइएस गड़रिया,एसडीओ, खालवा

COVID-19 COVID-19 virus
Show More
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned