गणगौर पर्व... पूजा होगी, उत्सव नहीं मनाया जाएगा

कोरोना संक्रमण का असर सभी पर्वों पर भी दिख रहा है। निमाड़ के लोक उत्सव के रूप में मनाए जाने वाले गणगौर पर्व पर इस बार सिर्फ पूजा होगी, उत्सव नहीं मनाया जाएगा

By: harinath dwivedi

Published: 07 Apr 2021, 11:03 AM IST

खंडवा. कोरोना संक्रमण का असर सभी पर्वों पर भी दिख रहा है। निमाड़ के लोक उत्सव के रूप में मनाए जाने वाले गणगौर पर्व पर इस बार सिर्फ पूजा होगी, उत्सव नहीं मनाया जाएगा। मंगलवार को एसडीएम डॉ. ममता खेड़े ने सभी बाड़ी बोने वाले पंडितों और गणगौर संचालकों की बैठक में समझाइश दी कि गणगौर पर्व पर कोई भी सार्वजनिक आयोजन नहीं किया जाए। जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर धारा १४४ लागू है, उसका पालन किया जाए।
एसडीएम डॉ. ममता खेड़े ने बताया कि कोविड-१९ संक्रमण के प्रावधानों का पर्व के दौरान पालन किया जाए इसके लिए सभी को बुलाकर समझाया गया है। उन्होंने बाड़ी बोने वालों को कहा कि बाड़ी में ज्वारे लेने के लिए भीड़ न लगाई जाए। बाड़ी में एक-दो लोगों को ही बुलाया जाए। ज्वारे देने के लिए भी दो लोग से ज्यादा न हो। रथ भी सिर्फ परिवार से दो-तीन लोग ही उठाएं। बाडिय़ों में बुजुर्गों और बच्चों को लाने पर प्रतिबंध रहेगा। रथ भी सार्वजनिक स्थानों पर नहीं रखे जाएंगे और बौढ़ाने का कार्यक्रम भी नहीं होगा। लोग अपने घरों में ले जाकर पूजा-अर्चना करें और सीधे विसर्जन के लिए ले जाए। इस दौरान रथों को पानी पिलाने के लिए पार्वती बाई धर्मशाला और गांधी भवन परिसर में भी नहीं ले जाने दिया जाएगा।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned