प्रेमिका की ख्वाहिश पूरी करने चुराई कार, प्रेमिका मिली न कार, पहुंचा सलाखों के पीछे

मध्यप्रदेश के खंडवा में शोरूम से कार चुराने के आरोपी पकड़े गए। आरोपियों ने बताया प्रेमिका को कार पसंद थी, जिसकी ख्वाहिश पूरी करने चोरी की।

By: संजय दुबे

Published: 12 Nov 2017, 09:35 AM IST

खंडवा. कार नहीं होने के कारण छोड़कर किसी ओर के पास गई प्रेमिका को वापस पाने की ख्वाहिश में युवक चोर बन गया। उसने शोरूम में सेंध लगाई और एक कार ले भागा। रास्ते में दुर्घटना हुई तो खुद को फंसते देख वह कार छोड़कर फरार हो गया, लेकिन युवक का प्रेमिका के प्रति जूनून कम नहीं हुआ। करीब २० दिन बाद दोबारा इंदौर रोड स्थित दो कार शोरूम में सेंधमारी की। जिसमें एक शोरूम से कार ले भागा। शनिवार को जब आरोपित पुलिस के हत्थे चढ़ा तो इश्क और जुर्म की पूरी कहानी सामने आ गई।
पद्मनगर पुलिस ने आरोपित चंद्रप्रकाश पिता बनवारी पटेल (24) निवासी ग्राम खारकलां (खालवा) हाल मुकाम माता चौक खंडवा को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपित चंद्रप्रकाश ने चोरी की वारदातें करना कबूल किया है। मामले में पुलिस ने कोर्ट में पेश कर आरोपित चंद्रप्रकाश को एक दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है।

पुरानी वारदात के फुटेज से मिला आरोपित का सुराग
सीएसपी शेषनारायण तिवारी ने बताया ७ नबंवर को निमाड़ मोटर्स से कार की चॉबियां और हुंडई कार शोरूम से कार चोरी हुई थी। आरोपित कार लेकर इंदौर रोड होते हुए दादाजी कॉलेज के रास्ते रेहमापुर पहुंचा। यहां से पंधाना सिरपुर पहुंचा। पेट्रोल पंप पर कार में डीजल भरवाया। तभी सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गया। फुटेज मिलने के बाद पुरानी चोरी वारदातों के फुटेज खंगाले गए। जिसमें आरोपित की शिनाख्त चंद्रप्रकाश के रूप में हुई। पूछताछ में १९ अक्टूबर को हुई कार चोरी की वारदात भी आरोपित ने कबूल की है।

पांच चोरी के मामले पहले से ही दर्ज
आरोपित की गिरफ्तारी के बाद उसका आपराधिक रिकॉर्ड खंगाला गया तो पांच चोरी के प्रकरण दर्ज होना सामने आया है। उसने पिपलौद और जावर थाना क्षेत्र में बाइक, मोबाइल, एलईडी और घरों में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। पद्मनगर टीआई विश्वद्वीप परिहार ने बताया आरोपित चंद्रप्रकाश शातिर चोर है। रिमांड पर लिया है। पूछताछ में शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों की अन्य वारदातों में खुलासा हो सकता है। इधर एसपी नवनीत भसीन ने प्रकरण में कार्रवाई करने वाली टीम एसआई गोकुल अजनेरिया, आर महेन्द्र वर्मा, आनंदी पाल सहित अन्य को नकद इनाम से पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

केटरिंग का काम करते समय हुआ था प्यार
पुलिस की पूछताछ में आरोपित चंद्रप्रकाश ने बताया कुछ समय पहले वह इंदौर में रहकर केटरिंग का काम करता था। इसी दौरान साथ में काम करने वाली युवती से उसे प्रेम हो गया। दोनों के बीच सबकुछ सही चल रहा था, लेकिन अचानक प्रेमिका केटरिंग के ठेकेदार से प्रेम करने लगी। क्योंकि उसके पास कार और रुपए थे। उसके पास बाइक थी। कार दिखाकर प्रेमिका को खुश कर सके। इसलिए उसने कार चोरी की। इधर, आरोपित ब्रांडेड जूते और कपड़े पहनने का शौक रखता था।

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned