कोविड में भर्ती मरीजों से फीडबैक लेकर रोज दें जानकारी

-नवागत कलेक्टर ने मेडिकल कॉलेज, अस्पताल के डॉक्टर्स को दिए निर्देश
-डिस्चार्ज होने वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुछ दिन हो मानिटरिंग
-मरीजों के भोजन की गुणवत्ता और वार्ड में साफ-सफाई का भी ध्यान रखने को कहा

खंडवा.
नवागत कलेक्टर अनय द्विवेदी ने पदभार संभालते ही सबसे पहले कोरोना संक्रमण को खत्म करने के लिए अब तक की गई व्यवस्थाओं को लेकर बैठक ली। गुरुवार शाम कलेक्टोरेट सभाकक्ष में कलेक्टर अनय द्विवेदी ने मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल और कोविड अस्पताल के प्रभारियों से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वार्ड में तैनात डॉक्टर्स वहां भर्ती मरीजों से वार्ड की व्यवस्थाओं के बारे में पूछताछ कर नियमित रूप से फीडबैक लेते रहे तथा वॉट्सअप के माध्यम से जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को भेजते रहें। बैठक में नवागत एसपी विवेक सिंह ने कंटेंमेंट क्षेत्र में सख्ती से नियमों का पालन कराने के निर्देश उपस्थित पुलिस अधिकारियों को दिए।
कलेक्टर ने मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल के डॉक्टर्स से कहा कि होम क्वॉरेंटीन करने से पूर्व संदिग्ध मरीजों के घर की स्थिति जरूर देख ले। अगर घर में पर्याप्त व्यवस्था न हो तो संबंधित संदिग्ध मरीज को क्वॉरेंटीन सेंटर में अलग से रखने की व्यवस्था की जाए, ताकि घर के अन्य लोग संक्रमण से बचे रहे। उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड केयर सेंटर में भर्ती कोरोना पॉजिटिव मरीजों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा जाए। उनके मनोरंजन तथा उत्साहवर्धन के लिए गतिविधियां कराई जाएं। कलेक्टर ने कहा कि इन मरीजों के भोजन की गुणवत्ता व वार्ड की साफ सफाई का भी ध्यान रखें। अस्पताल से डिस्चार्ज से होने वाले कोरोना विजेताओं के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग भी डिस्चार्ज होने के कुछ दिन बाद तक की जाए।
कंटेंमेंट क्षेत्र में सख्ती से रोके आवागमन
पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने कहा कि कंटेंमेंट क्षेत्र में नागरिकों का आवागमन सख्ती से रोका जाण्। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग अत्यावश्यक है। उन्होंने कहा कि कुछ मामलों में यह भी देखा गया है कि कोरोना संक्रमण से मुक्त होने के कुछ दिन बाद भी उसी व्यक्ति को पुन: संक्रमण हो जाता है, इसलिए डिस्चार्ज होने के बाद संबंधित कोरोना विजेता के स्वास्थ्य पर नजर रखी जाएं। बैठक में जिला पंचायत सीईओ रोशन कुमार सिंह, एसडीएम हरसूद डॉ. परीक्षित झाड़े, अपर कलेक्टर नंदा भलावे कुशरे, एएसपी सीमा अलावा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
जिले में कुल 182 डॉक्टर्स
बैठक में जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि अभी तक जिले कुल 2584 सैंपल्स कोरोना संक्रमण की जांच के लिए गए, जिसमें से 2363 की रिपोर्ट प्राप्त हो गई है, जिसमें 2093 रिपोर्ट निगेटिव व रिपोर्ट 208 कोरोना पॉजिटिव आईं है। कुल 64 रिपोर्ट अमान्य हुई है। जिले में कुल 17 कंटेंमेंट क्षेत्र क्रियाशील है। अभी तक जिले में कुल 10 कोरोना मरीजों की मृत्यु हुई है। उन्होंने बताया जिले में कुल 182 डॉक्टर्स हैं, जिसमें से मेडिकल कॉलेज में 129, जिला अस्पताल में 21 व सीएमएचओ के अधीन ग्रामीण क्षेत्र सहित कुल 32 डॉक्टर्स शामिल है।

मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned