हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल से सफाईकर्मी ने लगाई छलांग, जांघ में घुसा लोहे का एंगल, ऑपरेशन कर निकाला

गुर्जर हॉस्पिटल का मामला, घायल को इंदौर किया रेफर, मोघट पुलिस ने जांच में लिया मामला

खंडवा. गुर्जर हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल से सफाईकर्मी ने छलांग लगा दी। घटना में सफाईकर्मी नीचे लोहे के एंगल पर जा गिरा। एंगल उसकी जांघ में घुस गया। घटना की खबर लगते ही हॉस्पिटल स्टाफ में हड़कंप मच गया। तबाड़तोड़ प्राथमिक उपचार कर घायल सफाईकर्मी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां स्थिति नाजुक होने पर डॉक्टर ने इंदौर रेफर कर दिया। इंदौर में ऑपरेशन कर डॉक्टर्स ने लोहे का एंगल निकाला है। उधर, घटनाक्रम की सूचना मिलते ही मोघट पुलिस ने मामला जांच में लिया है। पुलिस के अनुसार हरिश पिता सुनील (22) निवासी आदर्श नगर गुर्जर हॉस्पिटल में सफाईकर्मी था। सोमवार रात सफाईकर्मी हरिश हॉस्पिटल में ही था। इसी बीच रात करीब 1.30 बजे हरिश हॉस्पिटल की छत पर गया और तीसरी मंजिल से छलांग लगा दी। घटना में हरीश नीचे रखे लोहे के एंगल पर गिरा। इससे लोहे का एंगल उसकी जांघ के आर-पार निकल गया। घटनाक्रम देख अस्पताल प्रबंधन ने उसे इलाज के लिए भर्ती कराया। जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद घायल हरिश को इंदौर में एमवाय अस्पताल में रेफर किया गया। इंदौर में डॉक्टर ने मंगलवार दोपहर ऑपरेशन कर हरिश की जांघ में घुसा लोहे का एंगल निकाल लिया है। सफाईकर्मी हरिश की हालत नाजुक बनी हुई है।
डिप्रेशन में था सफाईकर्मी, छत पर मिला मोबाइल
घटनाक्रम की सूचना पर रामेश्वर चौकी पुलिस मौके पर पहुंची और घटनाक्रम की जानकारी ली। मौके की छानबीन के दौरान घायल सफाईकर्मी का मोबाइल और चप्पल छत से बरामद हुए है। वहीं पूछताछ में हॉस्पिटल स्टाफ ने बताया हरिश डिप्रेशन में था। पिछले करीब दस दिनों से मरने की बात कह रहा था। इससे आशंका जताई जा रही है कि सफाईकर्मी हरिश ने आत्महत्या करने के लिए हॉस्पिटल की छत से छलांग लगाई होगी।
रात 3 बजे घर आए और बोले हरिश छत से कूद गया है
एमवाय हॉस्पिटल में घायल हरिश के साथ मौजूद उसकी छोटी बहन इतिशा चागले ने बताया भैया हरिश रोजाना की तरह 8.30 बजे ड्यूटी पर निकले थे। हॉस्पिटल में वह क्या करते हैं हमें नहीं पता। रात करीब 3 बजे हॉस्पिटल के लोगों ने आकर बताया कि हरिश ने छत से कूदकर आत्महत्या की कोशिश की है। हम सरकारी अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टर ने ऑपरेशन नहीं होने की बात कहकर इंदौर भेज दिया। इंदौर में भैया को लगा एंगल काटकर डॉक्टर्स ने निकाल दिया है। लेकिन भैया को अब तक होश नहीं आया है। हॉस्पिटल में भैया को किसी ने मारा या फिर वह स्वयं छत से कूदे हैं उसके संबंध में होश आने के बाद भैया ही बता पाएंगे।

अजय पालीवाल
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned