Guru Nanak Jayanti - आरती और आतिशबाजी के पहले दिखाए रोमांचक करतब

आतिशबाजी के पहले दिखाए रोमांचक करतब

खंडवा. सिख समाज के पहले पातशाही श्रीगुरुनानक देवजी का 550वां प्रकाशोत्सव उत्साह से मनाया जा रहा है। प्रकाशोत्सव पर गुरुद्वारा श्री गुरुसिंघ सभा में सहज पाठ समाप्ति, कीर्तन, अरदास के बाद गुरु का अटूट लंगर आयोजित होगा। वहीं, शाम को कीर्तन, गुरमत विचार और रात में आतिशबाजी की जाएगी। प्रकाशोत्सव के अवसर पर सामाजिक सरोकार के तहत सिख समाज और जेपीबी क्लब रक्तदान समूह द्वारा ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन भी होगा।


श्री गुरुनानक देवजी की 550वीं जयंती सिख समाज द्वारा हर्षोल्लास से मनाई जा रही है। प्रकाशोत्सव पर्व के दौरान एक सप्ताह तक प्रभातफेरियां समाज द्वारा निकाली गई थी। जिसमें गुरु का जसगान करते हुए सिख समाजजनों ने श्री गुुरुनानक देवजी के संदेशों को जन-जन तक पहुंचाया था। प्रकाशोत्सव का मुख्य दिवस मंगलवार कार्तिक पूर्णिमा पर मनाया जाएगा।

निशान साहेब का साजना के साथ सहज पाठ समाप्ति, कीर्तन व गुरमत विचार व अरदास

श्री गुरुसिंघ सभा अध्यक्ष कमलजीतसिंघ सलूजा, सचिव दलजीतसिंघ सवन्नी ने बताया कि गुरु पूरब पर सुबह निशान साहेब का साजना के साथ सहज पाठ समाप्ति, कीर्तन व गुरमत विचार व अरदास के बाद दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक गुरु का अटूट लंगर होगा।


सिंधी समाज द्वारा गुरु नानकदेव जी की 108 दीपों से होगी महाआरती। सिंधी कॉलोनी स्थित बालकधाम गुरुद्वारा में श्री गुरुनानक देव जी के जन्मोत्सव के मौके पर मंगलवार को 108 दीपों से महाआरती की जाएगी। बालकधाम प्रवक्ता निर्मल मंगवानी ने बताया कि बालकधाम प्रमुख स्वामी माधवदास उदासी के सानिध्य में प्रात: 6 बजे अमृत वेला ट्रस्ट महिला मंडल शाखा की महिलाओं एवं सिंधी समाज द्वारा गुरु नानकदेव जी की 108 दीपों से महाआरती की जाएगी। आरती, अरदास, पल्लव पश्चात प्रसादी का वितरण होगा।

deepak deewan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned