मप्र में पर्यटन बढ़ाने के लिए यूं बनाएंगे टूरिस्ट सर्किट, हनुवंतिया में मंत्री ने किया ऐलान

महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, महेश्वर, मांडू, मोहनखेड़ा और सिंगाजी को मिलाकर सर्किट बनाया जाएगा।

खंडवा. मप्र का गोवा कहे जाने वाले हनुवंतिया में चौथे जल महोत्सव का शुभारंभ मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कर दिया है। एक महीने तक यहां जल आधारित गतिविधियां होंगी।

प्रदेश के पर्यटन एवं नर्मदा घाटी विकास विभाग के मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने कहा कि महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, महेश्वर, मांडू, मोहनखेड़ा एवं सिंगाजी को मिलाकर एक टूरिस्ट सर्किट विकसित किया जाएगा। मांडू में आदिवासियों के घर पर्यटकों को रूकने की सुविधा देने की शुरूआत हाल ही में की गई है, जिससे पर्यटक आदिवासी संस्कृति तथा आदिवासियों की परंपराएं व उनके व्यंजनों के बारे में जान सके। उन्होंने कहा कि प्रदेष में धार्मिक पर्यटन व ट्राइबल टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा। पर्यटन मंत्री बघेल ने कहा कि हनुवंतिया में पर्यटन स्थल विकसित होने से इस क्षेत्र के हजारों लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप में रोजगार मिला है। अगले एक माह तक जल महोत्सव का आयोजन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा घाटी विकास विभाग द्वारा किसानों के खेत खेत में सिंचाई के लिए पानी पहुंचाने की व्यवस्था भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों उज्जैन में महाकालेश्वर विकास योजना पर 300 करोड़ रुपए तथा ओंकारेश्वर विकास योजना के लिए 156 करोड़ रूपये स्वीकृत करने का ऐतिहासिक कार्य किया है।

प्रभारी मंत्री ने इन मुद्दों पर ये कहा
प्रभारी मंत्री सिलावट ने ओंकारेश्वर विकास योजना के लिए 156 करोड़ रुपए स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार मानते हुए कहा कि खंडवा जिले के 46 हजार किसानों को 128 करोड़ रुपए का कर्ज सरकार ने माफ कर दिया है। दूसरे चरण में जिले के 9278 किसानों का 66 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया जा रहा है।

पूर्व सांसद ने कहा- यहां असीम संभावनाएं
पूर्व सांसद अरुण यादव ने इस अवसर पर कहा कि इंदिरा सागर के बेकवॉटर में हनुवंतिया जैसे अन्य पर्यटन स्थल विकसित होने की असीम संभावनाएं है। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से अनुरोध किया कि इस क्षेत्र में और पर्यटन स्थल विकसित करने की कार्य योजना बनाई जाए।

संत सिंगाजी के लिए रखी मांग
क्षेत्रीय विधायक नारायण पटेल ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से अनुरोध किया कि मांधाता क्षेत्र में और अधिक विकास कार्य स्वीकृत किए जाएं। उन्होंने संत सिंगाजी की समाधि को भी पर्यटन स्थल का दर्जा देने का अनुरोध भी किया।

Show More
अमित जायसवाल Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned