गीतांजलि तेल कारखाने में लगी भीषण आग, तेल से भरा आयशर और डॉग जला

जूनी इंदौर लाइन का मामला, दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पाया गया काबू

खंडवा. जूनी इंदौर लाइन स्थित गीतांजलि तेल कारखाने में रविवार रात करीब 1 बजे आग लग गई। आग धीरे-धीरे बढ़ी और लपटे उठने लगी। लपटे और धूंआ उठते देख राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और फायर फाइटर को बुलाया। इसी बीच आग ने भीषण रूप ले लिया। वहीं कारखाने की शटर बंद होने के कारण आग बुझाने में मशक्कत करना पड़ी। स्थिति देख पुलिस ने जेसीबी बुलाई और शटर को तोड़ा। शटर टूटते ही आग बढ़ी। फायर फाइटर ने करीब दो घंटे की मशक्कत कर आग पर काबू पाया। आग बुझाते समय पैर पर तेल गिरने से फायर फाइटर का कर्मचारी झुलस गया। आग कारखाने के आगे के हिस्से में लगी थी। आग की लपटे और धूंआ देख मौके पर लोगों की भीड़ जमा हुई। आग लगने का कारण अज्ञात है। आगजनी में करीब दस टन तेल का नुकसान बताया जा रहा है। मामले में पुलिस आग के कारण और आगजनी में हुए नुकसान का आकलन कर रही है।

तेल से भरा खड़ा था आयशर और कुत्ता भी जला

तेल कारखाने में मालिक चेतन अहूजा ने सुरक्षा के लिहाज से जर्मन शेफर्ड कुत्ता पाल रखा था। घटना के समय कुत्ता आगे के हिस्से में था, जो आग की चपेट में आने से जल गया। वहीं पांच टन से अधिक तेल से भरी आयशर सहित एक अन्य लोडिंग वाहन आग की चपेट में आ गए। दोनों वाहन पूरी तरह जल गए। वाहनों की आग बुझाने में करीब एक घंटे की मशक्कत और तीन फायर फाइटर पानी लगा। पूरी आग बुझाने में फायर गाडिय़ों को दस से अधिक बार पानी के लिए चक्कर लगाना पड़े।

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned