नगर निगम चुनाव में वैध होगी अवैध कॉलोनियां

नगर निगम चुनाव की तैयारियों में जुटी भाजपा
-हर शहर का अलग एजेंडा तय होगा, मुख्यमंत्री पहुंचेंगे जिला मुख्यालयों पर
-नगरीय निकाय चुनाव संचालन समिति की प्रथम बैठक भोपाल में हुई
-प्रदेश संगठन समिति में खंडवा विधायक सदस्य के रूप में हुए शामिल

खंडवा.
नगरीय निकाय चुनाव के आगामी मार्च या अप्रैल में होने की संभावना है। भाजपा नगरीय निकाय चुनाव को लेकर तैयारियों में जुट गई है। संगठन द्वारा नगरीय निकाय चुनाव प्रबंधन समिति का भी गठन कर दिया गया है। समिति में प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एवं समिति संयोजक पूर्व गृह मंत्री उमाशंकर गुप्ता के साथ ही निमाड़ से खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा व बुरहानुपर के पूर्व महापौर अतुल पटेल को सदस्य के रूप में लिया गया है। समिति गठन के बाद नगरीय निकाय चुनाव संचालन समिति की प्रथम बैठक गुरुवार को भोपाल में हुई।
बैठक में नगरीय निकाय चुनाव को लेकर रूपरेखा तैयार की गई। बैठक में तय हुआ कि प्रत्येक शहर का विकास का एक नया एजेंडा तैयार होगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वयं जिला मुख्यालय पर पहुंचकर इस एजेंडे को समीक्षा बैठक के माध्यम से अंजाम देंगे। पूर्व की तरह ही प्रदेश की सभी नगर निगमों के साथ पंचायत एवं परिषदों में भाजपा की काबिज हो उसकी तैयारियों पर भी मंथन किया गया। प्रवक्ता सुनील जैन ने बताया कि नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा को सफलता मिले इसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का दौरा कार्यक्रम शुरू हो चुका है। खंडवा में संभवत: 6 फरवरी को दौरा होने जा रहा है।
अवैध कॉलोनियों को वैध करने की बात रखी
बैठक में विधायक देवेंद्र वर्मा ने भी अवैध कालोनियों को वैध करने के नियम बनाने के साथ अन्य मुद्दों पर भी अपनी बात रखी। आगामी चुनाव को लेकर 8 फरवरी से मतदाताओं के नाम जोडृने का कार्य फिर शुरू हो रहा है इसको लेकर सदस्यों को चार-चार जिले में दौरा करने के निर्देश भी प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने बैठक में प्रदान किए। खंडवा विधायक चुनाव को लेकर धार, झाबुआ, अलीराजपुर और बड़वानी जाकर बैठक लेंगे। वहीं अतुल पटेल खंडवा और बुरहानपुर में बैठक लेंगे।

Bharatiya Janata Party
Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned