नकली घी के अवैध कारखाने पर पुलिस का छापा, एक हजार 300 किग्रा घी जब्त

छैगांवमाखन के ग्राम छिरवेल में पुलिस ने की कार्रवाई, कारखाना संचालक सहित तीन महिलाएं गिरफ्तार, ग्रामीण महिलाओं की मदद से घर-घर और हाट बाजार में बिकवा रहा था नकली घी, भांग व सनन की गोलियां भी हुई बरामद

खंडवा. ग्राम छिरवेल में दबिश देकर पुलिस ने अवैध रूप से संचालित हो रहा नकली घी बनाने का कारखाना पकड़ा है। मौके से एक हजार 300 किग्रा नकली घी सहित सामग्री जब्त हुई है। मामले में पुलिस ने कारखाना संचालक और नकली घी बेचने का काम कर रही तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास कारखाना चलाने का लाइसेंस नहीं था। दरअसल, पुलिस को शहर में नकली घी घर-घर बेचे जाने की सूचना मिली। खबर मिलते ही पद्मनगर और छैगांवमाखन थाना पुलिस की संयुक्त टीम ने तफ्तीश शुरू की। गुरुवार सुबह छैगांवमाखन में पुलिस ने तीन महिलाओं को नकली घी के साथ पकड़ा। पूछताछ में उन्होंने बताया उक्त घी अमित ट्रेडर्स से लिया है। साथ ही छिरवेल में नकली घी बनाने का कारखाना संचालित होने की बात कही। इस पर पुलिस ने कल्लनगंज स्थित अमित ट्रेडर्स कार्यालय पर दबिश दी। छानबीन में मौके से नकली घी के पिपे बरामद हुए। मौके पर साक्ष्य मिलते ही सीएसपी ललित गठरे ने टीम के साथ ग्राम छिरवेल में नकली घी के कारखाने पर दबिश दी। जहां तलाशी ली तो अधिकारी दंग रह गए। मौके पर नकली घी का जंखीरा मिला। मामले की सूचना खाद्य विभाग को दी। खाद्य विभाग के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर नकली घी के सेंपल लिए। वहीं पुलिस ने नकली घी बनाने की सामग्री जब्त की। वहीं कारखाना संचालक अमित पिता सीताराम दुल्हानी (42) निवासी पद्मनगर सिंधी कॉलोनी को गिरफ्तार किया। मामले में पुलिस ने कारखाना संचालक आरोपी अमित दुल्हानी और नकली घी बेचने वाली राधा पति राधेश्याम निवासी छिरवेल, रुकमा पति नरसिंग और रेलका पति ज्ञानसिंग दोनों निवासी मोहनपुरा के खिलाफ धारा 420, 269, 272, 273 और खाद्य सुरक्षा व मानक अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है।
62 ब्रांडेड कंपनी के पिपे व नशीली गोलियां बरामद
कार्रवाई के दौरान पुलिस ने मौके से सूर्या गोल्ड वनस्पती कंपनी के 15-15 किग्रा के 62 पिपे जब्त किए। इसके अलावा 24 किग्रा नकली घी, 15 किग्रा तैयार घी, नकली घी बनाने के मिश्रण के 32 नग 50 किग्रा वजनी, सोयाबीन तेल, एक्सपायरी डेट का सामान कोलगेट, डाबर लाल दंत मंजन, वीको मंजन, स्नेक्स 24 ग्राम, भांग और सनन की गोलियां जब्त की है। कार्रवाई में पुलिस ने कुल 1300 किग्रा नकली घी और सामग्री बरामद की है।
रोजाना 50 किग्रा नकली घी खपा रहे थे आरोपी
एसपी विवेक सिंह ने बताया आरोपी अमित करीब दो वर्षों से नकली घी बनाने का कारोबार कर रहा था। वह ग्रामीण क्षेत्र के महिलाओं की मदद से शहर में घर-घर और हाट बाजार में नकली घी खपा रहा था। रोजाना 50 किग्रा से अधिक घी बेचा जा रहा था। इसके अलावा आरोपियों को नकली घी बनाने में करीब 200 रुपए का खर्चा आता था। लेकिन वह बाजार में करीब 500 रुपए में बेच रहे थे। मामले में पुलिस आरोपी अमित की प्रॉपर्टी की जांच कर रही है। वहीं खाद्य विभाग से सेंपल की रिपोर्ट मिलने के बाद आरोपी के खिलाफ प्रतिबंधात्मक सहित अन्य धाराओं में कार्रवाई हो सकती है।

दही, बटर और एसेंस से बना रहे थे नकली घी
कार्रवाई के दौरान सामने आया कि आरोपी नकली घी बनाने के लिए कई घातक केमिकल का उपयोग कर रहा था। आरोपी नकली घी बनाने वाले पॉम ऑयल में कलर और एसेंस डालकर घी बना रहे थे। घी को दानेदार करने के लिए उबले आलू, दही और बटर का इस्तेमाल किया जा रहा था। इसके बाद इस घी को चर्चित ब्रांड की कॉपी किए बॉक्स में भरा जा रहा था और बाजार में उसी दाम पर बेचा जा रहा था। जबकि नकली घी बनाने में आरोपी को 150 से 200 रुपए तक का खर्चा आ रहा था।
ग्रामीण महिला को देख भरोसा करते थे लोग
आरोपी नकली घी बेचने में ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं की मदद ले रहा था। यह महिलाएं शहर की कॉलोनियों में घर-घर पहुंचकर घी बेच रही थी। आरोपी ज्यादातर महिलाओं को घी बेच रहे थे। इस दौरान लोग ग्रामीण क्षेत्र की महिला को देख कर घी शुद्ध होने का भरोसा कर खरीद रहे थे। साथ ही आरोपी महिलाएं घी गांव से लाने की बात कहती थी। कार्रवाई टीम में पद्मनगर थाना प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह राठौर, छैगांवमाखन प्रभारी गणपत कनेल, एसआइ ममता वास्केल, सतेन्द्र कुशवाह, एएसआइ एसआर पाटीदार, आरक्षक प्रमोद, प्रकाश, अरविंद, राजेन्द्र पंजारे, संतोष पटेल, केमर रावत आदि शामिल थे।

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned