किशोर कुमार की पुण्यतिथि पर उठी उन्हें भारत रत्न देने की मांग

sanjay dubey

Publish: Oct, 13 2017 03:26:27 (IST)

Khandwa, Madhya Pradesh, India

हरफनमौला किशोर कुमार की पुण्यतिथि पर १३ अक्टूबर शुक्रवार को मप्र के खंडवा स्थित उनके समाधिस्थल पर प्रशंसक जुटे। दूध-जलेबी का भोग लगा।

खंडवा. किशोर कुमार के प्रशंसकों ने पुण्यतिथि के मौके पर सुबह से उनकी समाधि पर दस्तक दे दी। किशोर दा जब भी खंडवा आते थे, तब यहां दूध-जलेबी जरूर खाते थे, इसलिए इस खास अवसर पर प्रशंसकों ने दूध-जलेबी का भोग भी लगाया। इसके बाद शुरू हुआ किशोर दा के ही नगमों को गुनगुनाने का सफर।

हरफनमौला किशोर कुमार की पुण्यतिथि पर १३ अक्टूबर को सुबह समाधि पर सुरमयी श्रद्धांजलि कार्यक्रम हुआ। दूध-जलेबी का भोग लगाने के बाद नगर निगम प्रशासन व किशोर सांस्कृतिक प्ररेणा मंच के तत्वावधान में किशोर दा की समाधि स्थल पर सुबह 10 बजे से गीतों के माध्यम से श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम चला।

महापौर, एसपी ने गाए गीत

महापौर सुभाष कोठारी और एसपी नवनीत भसीन भी अपनी टीम के साथ किशोर दा के समाधिस्थल पहुंचे। यहां उन्होंने समाधि पर पुष्प अर्पित किए और इसके बाद गीत भी गाए। बता दें कि यहां देशभर से किशोर भक्त जुटे हैं।

किशोर अलंकरण से ये होंगे सम्मानित

१३ अक्टूबर की शाम ७.३० बजे से खंडवा के पुलिस लाइन मैदान में संस्कृति विभाग द्वारा निर्देशन, अभिनय, पटकथा व गीत लेखन के क्षेत्र में दिए जाने वाले राष्ट्रीय किशोर कुमार सम्मान से वर्ष 2015 के लिए पटकथा लेखक रूमी जाफरी और वर्ष 2016 के लिए गीतकार योगेश को सम्मानित किया जाएगा। सम्मान में 2 लाख रुपए की राशि, सम्मान पट्टिका, शॉल श्रीफल से नवाजा जाएगा।

एेसी रहेगी बैठक और मंच की व्यवस्था

किशोर अलंकर समारोह के लिए शहर के पुलिस लाइन मैदान में ३ हजार कुर्सियां और ४० सोफे लगाए गए हैं। मंच परंपरागत ही है और इस पर ही किशोर अलंकरण सम्मान समारोह होने के बाद किशोर नाइट होगी।

100 गीतों में किशोर दा की याद... साथ में प्रतिमा निर्माण भी

इसके पहले दोपहर १ से शाम ५ बजे तक गौरीकुंज सभागार में किशोर गायक पुणे के जितेंद्र भुरुक और अहमदनगर के शिल्पकार प्रमोद कामले द्वारा किशोर दा की प्रतिमा सृजन का अनूठा तालमेल देखने को मिलेगा। जो प्रतिमाएं बनेंगी वो जिला प्रशासन को सौंपी जाएंगी, जिनका उपयोग किशोर दा के घर के बाहर, स्मारक या समाधि पर लगाकर किया जाएगा।

भारत रत्न देने की उठी मांग

कोलकाता से किशोरप्रेमियों का दल खंडवा आया है। किशोर कुमार को भारत रत्न अवार्ड की पैरवी कर रहे हैं। वे किशोरकुमार की समाधि व स्मारक से इस मसले पर जन जागृति फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। एक स्वीकृति फॉर्म भी किशोरप्रेमियों से भरवाएंगे। मांग बिना शर्त एक सूत्रीय रहेगी। शाम को यह दल संस्कृति मंत्री सुरेंद्र पटवा से भी मिलेगा।

कोलकाता से किशोर दा के जूते लेकर आए गौतम

कोलकाता से गुरुवार को खंडवा पहुंचे गौतम घोष ने किशोर दा के पुस्तैनी मकान पर पहुंचकर चौकीदार सीताराम काका से चर्चा की। यहां उन्होंने 'आ चल के तुझे मैं लेकर चलूं...Ó और 'कोई हमदम न रहा कोई साथी न रहा...Ó गुनगुनाया। गौतम, किशोर दा के जूतों की पूजा करते हैं, वे यहां अपने साथ ये जूते लेकर आए हैं। पेशे से गायक हैं और कई बंगाली फिल्मों में गीत भी गाए हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned