engineering student की मिली लाश, संदिग्धों के नाम आए सामने

इंजीनियरिंग स्टूडेंट की मिली लाश

By: deepak deewan

Published: 03 Dec 2019, 06:12 PM IST

ओंकारेश्वर. तीर्थनगरी ओंकारेश्वर में सप्ताहभर पहले संदिग्ध अवस्था में मृत मिले युवक की मौत के मामले में पुलिस अब तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई। परिजन ने मामले में हत्या की शंका जताई।

आठ दिन बाद भी नहीं सुलझी पार्षद के बेटे मौत की गुत्थी

25 नवंबर को वार्ड एक के पार्षद राकेश ढाकसे के बेटे आयुष का शव नागरघाट के ऊपरी क्षेत्र में मिला। ओंकारेश्वर के वार्ड 1 के पार्षद राकेश ढाकसे का बेटा आयुष बोरावां इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। 24 नवंबर को आयुष घर से बोरावां जाने का कहकर निकला। 25 नवंबर की सुबह संदिग्ध अवस्था में उसका शव मिला। उसके सिर व हाथ में चोट के निशान थे।


संदिग्धों के नाम आए सामने
इस मामले में रविवार को मृतक के परिजन ने एक बार फिर थाने पहुंचकर प्रकरण में जांचकर खुलासे की मांग की। आयुष की मौत कैसे हुई आठ दिन बीत जाने के बाद भी मांधाता पुलिस पता नहीं कर पाई। जबकि आयुष का एन्ड्रायड मोबाइल फोन भी चालू स्थिति में होना कई शंकाओं को जन्म दे रहा हैं। मृतक आयुष के पिता राकेश ढाकसे का कहना है कि मेरे बेटे की हत्या हुई हैं, जिन लोगों पर मुझे शंका हैं, उनके नाम पुलिस को दिए हैं। मैं अपने समाजजनों एवं नगर के जनप्रतिनिधियों के साथ थाने पर हत्या के प्रकरण में शीघ्र कार्रवाई करने संबंधी एक ज्ञापन दिया हैं।


इस संबंध में मांधाता थाना प्रभारी जगदीश पाटीदार का कहना है कि मृतक के परिजन ने ज्ञापन दिया है। आयुष की मौत सिर में चोट लगने से हुई हैं। हम लोग प्रकरण की गहन जांच कर रहे हैं। जो भी दोषी पाया जाता है, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned