संदिग्ध अवस्था में घायल मिली किशोरी की इलाज के दौरान मौत, हत्या का आरोप

इंदौर नाका क्षेत्र में पानी की टंकी के पास शनिवार सुबह की घटना

खंडवा. इंदौर नाका क्षेत्र में पानी की टंकी के पास शनिवार सुबह गंभीर रूप से घायल मिली 13 वर्षीय किशोरी की शाम 6 बजे जिला अस्पताल में मौत हो गई। घटना पदम नगर थाना क्षेत्र में सरकारी पेट्रोल पंप के पीछे की है। किशारी की मौत के मामले में परिजन ने हत्या का आरोप लगाया है। मामला संदिग्ध बताया जा रहा है। किशोरी सुबह मोबाइल पर फोन आने के बाद रनिंग के लिए जाने का बोलकर घर से निकली थी। जिसके कुछ देर बाद वो गंभीर रूप से घायल मिली थी। किशोरी के दोनों पैर में गंभीर चोट थी। मामले में पुलिस जांच जारी है। थाना प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह राठौर व फारेंसिक टीम ने भी मौका मुआयना किया।
इंदौर नाका औद्योगिक क्षेत्र निवासी कोर्ट मुंशी रमेश भिकाजी सिरसाद की 13 वर्षीय नवासी करिश्मा पटेल उनके पास रहकर निजी कांवेंट स्कूल में कक्षा 6वीं की पढ़ाई कर रही थी। करिश्मा के पिता हितेंद्र पटेल और मां मीना पटेल गुजरात के बड़ौदा में रहते है। नाना रमेश सिरसाद बड़ौदा गए थे। जिसके कारण मीना अपनी बेटी करिश्मा के पास दो दिन पहले खंडवा आई थी। करिश्मा शनिवार सुबह 6 बजे मोबाइल पर फोन आने के बाद अपनी मां को रनिंग करने जाने का बोलकर निकली थी। करीब एक घंटे बाद सूचना मिली कि इंदौर रोड स्थित सरकारी पेट्रोल पंप के पीछे पानी की टंकी के पास करिश्मा घायल अवस्था में पड़ी हुई है। सूचना पर डायल 100 वाहन द्वारा उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां शाम 6 बजे उसकी मौत हो गई।
करिश्मा की मौत के बाद परिजन शाम को पदम नगर थाने पहुंचे। यहां बड़ौदा से आई करिश्मा की ताई सोनल पटेल ने बताया कि दोपहर में घायल करिश्मा से वीडियो कालिंग के माध्यम से उन्होंने बात की थी। करिश्मा डरी हुई लग रही थी। किसी ने उसके साथ गलत काम कर मारकर फेंका है। उसकी हत्या की गई है। घर पर सिर्फ उसकी मां मीना ही थी, घायल करिश्मा ने अपनी मां से बात भी की थी। अभी वो बोलने की हालत में नहीं है।
इसलिए लग रहा मामला संदिग्ध
करिश्मा के मोबाइल पर सुबह 6 बजे फोन आया था, जिसके बाद वो घर से तैयार होकर निकली थी। सुबह 7 बजे पुलिस को घायल अवस्था में मिली करिश्मा के दोनों पैर टूटे हुए थे, शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट नहीं दिख रही थी। पुलिस के अनुसार उसका मोबाइल पानी की टंकी के ऊपर मिला है। उसके मोबाइल की टार्च भी जली हुई थी। सिर्फ पैर टूटने पर भी उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। पूरा मामला संदिग्ध नजर आ रहा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में लगी है। मृतक के मोबाइल की काल डिटेल भी निकाली जा रही है।

अजय पालीवाल
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned