पेट्रोल पंपों में चोरी का धंधा, चार मशीनें सील, संचालक पर केस दर्ज

मध्यप्रदेश के खंडवा में पेट्रोल पंप में ग्राहकों को पेट्रोल पांच लीटर में 40 मिलीलीटर कम दिया जा रहा था। प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए पंप को सील 

By: संजय दुबे

Published: 18 Aug 2017, 12:51 PM IST

खंडवा. नापतौल विभाग की ओर से गुरुवार को पेट्रोल पंपों की औचक जांच की गई। इसके तहत टीम ने पंधाना के प्रगति पेट्रोल पंप पर छाापामारी की। इसमें पांच लीटर पेट्रोल में 40 एमएल कम मिला। इस पर टीम ने पंप का पंचानामा बनाया और उसकी कागजी कार्रवाई करने के बाद पंप संचालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। इसके बाद पंप की चार मशीनों को सील कर दिया गया। जबकि जांच में अब तक आठ पंपों पर कार्रवाई हो चुकी है। सभी में कुछ न कुछ गड़बडि़यां मिली हैं। इस पर सभी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।
इसलिए हुई कार्रवाई
इनमें से अधिकतर पेट्रोल पंप के पास प्रतिदिन की जांच रिपोर्ट नहीं है। किसी के पास पुराने मापक यंत्रों का प्रयोग हो रहा है तो अधिकतर पंप संचालक पुरानी सील पर ही पेट्रोल-डीजल बेच रहे हैं। नए निर्देशानुसार अब पंप पर कमियां पाए जाने पर संचालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जाएगा। साथ ही लापरवाही पर इन्हें कोर्ट के आदेश पर जुर्माना भरना होगा। यदि जुर्माना भरने के तीन साल के भीतर फिर से गड़बड़ी पाई गई तो बड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इन पेट्रोल पंप पर कार्रवाई
बीपीसीएल प्रगति पेट्रोल पंप, पंधाना
एचपीसीएल इंद्रजीत कल्याण पेट्रोल पंप
एचपीसीएल नरेड़ी गोयल पेट्रोल पंप
एचपीसीएल अंक्ति फील जोन
एचपीसीएल दादाजी ऑटो पेट्रोल पंप, मूंदी
एचपीसीएल विजयलक्ष्मी फार्मा, जावर
बीपीसीएल शुभ पेट्रोलियम
बोरगांव तिरुपति गैस एजेंसी पर पुराने मापक यंत्र मिले
एस्सार का मालवा पेट्रोलियम, पंधाना रोड

उपभोक्ता बनें जागरूक, इन बातों का रखें ध्यान...
पेट्रोल पंप की ओर से किए गए डिस्प्ले और पंप के डिजिटल रेट का मिलान करें
शंका पर पंप पर रखे मानक यंत्र का प्रयोग करके उसकी जांच करें
किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी पर टोल फ्री नंबर पर जानकारी दें
इसके अलावा खाद्य आपूर्ति विभाग, नापतौल विभाग या फिर कलेक्टर कार्यालय में शिकायत करें जिस कंपनी का पंप हो उसके टोल फ्री नंबर पर भी शिकायत की जा सकती है।
खंडवा में खपत
१२ पेट्रोल पंप है शहर में
११ हजार लीटर पेट्रोल की प्रतिदिन खपत
२३ हजार लीटर डीजल की प्रतिदिन खपत

 

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned