सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर बना हत्यारे पवन ऐड़ा के मकान पर कार्रवाई कर पुलिस ने कराया जमींदोज

आरोपी ने धरमकांटा चौराहे पर चाकू मारकर की थी युवक की हत्या, पुलिस और प्रशासन की शहर में आदतन अपराधियों के खिलाफ मकान तोडऩे की दूसरी कार्रवाई

खंडवा. झाड़ खरीदी के विवाद में चाकू मारकर युवक की हत्या करने वाले आदतन अपराधी पवन ऐड़ा के सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर बने मकान के खिलाफ गुरुवार को पुलिस ने कार्रवाई की। कोतवाली थाना पुलिस और नगर निगम की टीम ने जेसीबी की मदद से अपराधी पवन के मकान को 15 मिनट में जमींदोज कर दिया। प्रशासन की शहर में आदतन अपराधियों के खिलाफ मकान तोडऩे की यह दूसरी कार्रवाई है। इसके पहले मोघट थाना क्षेत्र में अपराधी सलीम लंगड़ा का अवैध रूप से बना मकान पुलिस ने ढहाया था। गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे कोतवाली और नगर निगम की टीम धरमकांटा चौराहे के गली में हत्यारे पवन ऐड़ा के मकान पर पहुंची। पुलिस को आते देख मकान में मौजूद आरोपी के पत्नी, मां भाग गए। मामले में पुलिस की मौजूदगी में नगर निगम की टीम ने मकान खाली किया। वहीं जेसीबी मशीन को मशक्कत करते हुए गलियों के रास्ते मकान तक लाया गया। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद मकान तोडऩे की कार्रवाई शुरू हुई। कार्रवाई के दौरान जेसीबी ने महज 15 मिनट में अपराधी का मकान जमींदोज कर दिया। उक्त मकान सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर बनाया गया था। इसको लेकर नगर निगम ने पूर्व में नोटिस जारी किया था।
मकान टूटा तो क्षेत्रवासियों ने बजाई तालियां
17 फरवरी को आरोपी पवन ऐड़ा ने क्षेत्र के ही निवासी आशीष बोरासी की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद क्षेत्र में आरोपी के खिलाफ आक्रोश व्याप्त था। क्षेत्रवासी आरोपी पर सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे थे। गुरुवार को पुलिस और प्रशासन ने जैसे ही आरोपी पवन के मकान को तोडऩे की कार्रवाई शुरू की तो क्षेत्रवासियों ने तालियां बजाई और कार्रवाई पर खुशी जाहिर की। लोगों ने इस कार्रवाई से क्षेत्रवासियों को पवन जैसे अपराधी से छुटकारा मिल गया।
यहां भी उठ रही कार्रवाई की मांग
इधर, 31 जनवरी रात कब्रिस्तान रोड पर विवाद में आरोपी कौशल पिता प्रकाश मोहे निवासी बड़ा कब्रिस्तान रोड चाकू मारकर युवती की हत्या की थी। वहीं युवक को जख्मी किया था। मामले में क्षेत्रवासी आरोपी कौशल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। क्षेत्रवासियों ने पुलिस और प्रशासन से आरोपी के मकान को तोडऩे की कार्रवाई की मांग की है।

जितेंद्र तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned