शार्ट सर्किट से जीनिंग फैक्ट्री में आग से बड़ा नुकसान

sanjay dubey

Publish: Nov, 15 2017 04:08:32 (IST)

Khandwa, Madhya Pradesh, India
शार्ट सर्किट से जीनिंग फैक्ट्री में आग से बड़ा नुकसान

मध्यप्रदेश के सेंधवा में शार्ट सर्किट से जीनिंग फैक्ट्री में आग लग गई। जिससे कपास और लकडि़या जलकर खाक हो गई। लाखों का नुकसान बताया जा रहा है।

सेंधवा/बड़वानी. नगर के वरला रोड पर स्थित एक जीनिंग फेक्ट्री में अचानक आग लग गई। आग लगने का कारण फैक्ट्री के पीछे से उड़कर आई एक चिंगारी को बताया जा रहा है। सही वक्त पर पहुंची फ ायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया और बाद नुकसान होने से बचा लिया।
फैक्ट्री के कर्मचारी पुनित ने बताया कि फेक्टरी के पीछे कही शॉर्ट सर्किट हुआ। जिसकी चिंगारी उड़कर फेक्टरी में आ कर कपास की छार पर गिरी। जहां चिंगारी गिरी वहां कपास की छार और लकडिय़ों का ढेर पड़ा था। छार में आग लगने से लकडिय़ों के ढेर में भी आग लग गई। छोटी सी चिंगारी से भड़की आग पास में ही लगे ट्रांसफ ार्मर तक पहुंच गई।

मौके पर पहुंची फायर फाइटर ने आग बुझाई
हालांकि ट्रांसफार्मर में आग लगने से पहले ही उसका में स्विच बंद कर दिया था। इसी दौरान नगर पालिका की फायर ब्रिगेड भी पहुंच गई और आग पर काबू पलिया गया। यदि ट्रांसफार्मर में कग लग जाती तो बड़ा हादसा हो सकता था। फेक्टरी में कपास के ढेर रकहे हुए हैं। इनमे आग लग जाती तो बड़ा नुकसान हो सकता था।

राशि वापस दिलाने के लिए देंगे धरना
सेंधवा. सर्वहित महाकल्याण वेलफेयर फाउंडेशन ने विभिन्न कंपनियों में किए नए निवेश की राशि वापस दिलाने की मांग को लेकर भोपाल में धरना प्रदर्शन करने की बात कही। फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं ने एसडीएम कार्यालय में तहसीलदार आदर्श शर्मा, विधायक कार्यालय और शहर थाने में ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा कि फाउंडेशन पिछले डेढ़ साल से विभिन्न कंपनियों में निवेश करने वाले लोगों की धन वापसी एवं रोजगार वेदना का प्रयास करता आ रहा है। संगठन की ओर से तहसील, जिला और संभाग में कई बार ज्ञापन दिए गए। लेकिन निवेशकों को उनकी धन राशि अभी तक वापस नहीं दिलाई गई। जिसे लेकर 27 और 28 को कार्यकर्ताओं की ओर से भोपाल में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इस मौके पर फाउंडेशन के अध्यक्ष संतोष निर्मल, बलवंत गोले, राजेंद्र जाट, दीपक राजपूत, हीरालाल गोरे, सुनील जायसवाल आदि मौजूद रहे।
......

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned