RTE: शैक्षणिक सत्र 2018-19 में ये रहेगी आरटीई की प्रवेश प्रक्रिया

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत आए दिशा-निर्देश, सत्र 2018-19 में पहले सीटें होंगी लॉक फिर आवेदन व लॉटरी।

By: अमित जायसवाल

Published: 05 May 2018, 06:05 AM IST

खंडवा. शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के अंतर्गत शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए दिशा-निर्देश आ गए हैं। मई महीने में शुरूआती सभी प्रक्रिया पूरी होंगी जबकि जून में अभिभावक अपने बच्चों को प्रवेश दिलाने के लिए आवेदन कर सकेंगे।

आरटीई के तहत 10 मई तक जहां स्कूल की ग्राम-वार्ड, पड़ोस व विस्तारित पड़ोस से मेपिंग होगी तो वहीं 15 मई तक दावा-आपत्ति व निराकरण किए जाना है। 25 मई तक आरटीई के ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से प्रवेश के लिए एंट्री कक्षा व प्रवेश सीटों को लॉक करने का काम पूरा हो जाएगा। उम्मीद जताई जा रही है कि जून की शुरूआत से ही आवेदन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इधर, आरटीई के नियम में है कि स्कूल हर वर्ष शैक्षणिक सत्र से पहले स्कूल द्वारा ली जाने वाली फीस अधिसूचित करेगा। इसलिए स्कूल द्वारा 2018-19 के लिए कक्षावार शुल्क को अधिसूचित करेगा और इसे पोर्टल पर दर्ज करेगा। इसकी कॉपी डीईओ व डीपीसी को 15 मई तक दी जाएगी। यह अधिसूचित फीस ही व्यय की प्रतिपूर्ति के लिए विचार में ली जाएगी। इसके अतिरिक्त कोई फीस यदि ली जाती है तो वह कैपिटेशन फीस की श्रेणी के अंतर्गत आएगी जो एक दंडनीय कृत्य होगा। स्कूल प्रबंधन पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

इन डेडलाइन में होना है ये
5 मई तक: ऑनलाइन लॉटरी के लिए अशासकीय स्कूल का चयन किया जाना।
- इसमें ध्यान रखना है कि स्कूल की प्रारंभिक कक्षा 1 अथवा प्री-प्राइमरी कक्षा हो, स्कूल मदरसा न हो, शासन से अनुदान प्राप्त न हो, स्कूल बंद हो गया है तो उसका चयन किया जाए।

10 मई तक: स्कूल की ग्राम-वार्ड, पड़ोस व विस्तारित पड़ोस से मेपिंग।
- कलेक्टर की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया जाएगा। यह समिति समय-सीमा में कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित करेगी। बीआरसीसी द्वारा स्कूलों की मेपिंग को पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा।

15 मई तक: दावा आपत्ति प्राप्त करना व निराकरण करना।
- किसी स्कूल की पड़ोस की सीमा या विस्तारित पड़ोस की सीमा के चिह्वांकन के संबंध में यदि कोई आपत्ति है तो स्कूल द्वारा दावा-आपत्ति विखं स्रोत समन्वयक को की जाएगी। सूची सार्वजनिक होगी।

21 मई तक: आरटीई के प्रवेश के लिए एंट्री कक्षा व प्रवेश के लिए सीटों को दर्ज करना।
- अशासकीय स्कूल द्वारा ऑनलाइन लॉटरी के लिए आरक्षित सीटों को दर्ज करने के बाद परीक्षण होगा। इन सीटों को ही लॉक किया जाएगा। लॉक सीटों में कोई संशोधन नहीं हो पाएगा। गलत जानकारी पर कार्रवाई होगी।

25 मई तक: आरटीई के ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से प्रवेश के लिए एंट्री कक्षा व प्रवेश सीटों को लॉक करना।
- स्कूल द्वारा दर्ज सीटों की संख्या को बीआरसीसी द्वारा मान्यता से सीटों को चेक कर लॉक करके डीपीसी को फॉरवर्ड किया जाएगा व डीपीसी द्वारा सीटें लॉक की जाएंगी। स्कूल वार लॉक सीट को पब्लिक डोमेन पर उपलब्ध कराया जाएगा।

फैक्ट फाइल
2017-18 सत्र में
4500 सीटों पर होना थे प्रवेश
2797 सीटों पर प्रवेश हो पाए थे
5000 बच्चे इस वर्ष शिक्षा के अधिकार से वंचित

- निर्देश आए गए हैं हमारे पास
आरटीई में सत्र 2018-19 के लिए हमारे पास निर्देश आ गए हैं। इस महीने के अंत तक शुरूआती सभी प्रक्रिया पूरी करना है। संभवत: जून की शुरूआत से आवेदन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।
मकसूद खान, आरटीई प्रभारी, जिला शिक्षा केंद्र, खंडवा

Show More
अमित जायसवाल Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned