कलेक्टर मंच से करती रहीं मोटिवेट, शिक्षकों ने झपकी से किया टाइम पास

कलेक्टर मंच से करती रहीं मोटिवेट, शिक्षकों ने झपकी से किया टाइम पास
latest news of swati meena khandwa collector

Amit Jaiswal | Updated: 13 Jun 2017, 01:55:00 PM (IST) Khandwa, Madhya Pradesh, India

स्कूल चलें हम अभियान के सेमिनार में नजर आई हद दर्जे की लापरवाही, कलेक्टर स्वाति मीणा नायक के लौटते ही बिगड़ी व्यवस्था, कई प्राचार्य व शिक्षक चले गए।

खंडवा. जितने संसाधन हैं, उनमें बेहतर काम हो सकता है। मैंने देखा है कि खंडवा में सरकारी स्कूलों के 60 फीसदी शिक्षक निजी स्कूल के शिक्षकों से बेहतर हैं। बस अब ये ठान लीजिए कि टाइमपास की मानसिकता से बाहर आना ही है। आप सिर्फ अच्छा नहीं, बल्कि बहुत अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।


स्कूल चलें हम अभियान के सेमिनार में सोमवार को जब कलेक्टर स्वाति मीणा नायक, सुभाष स्कूल के सभागार के मंच से ऊर्जा भरने वाला संबोधन दे रही थीं तब कई शिक्षक-शिक्षिकाएं व प्राचार्य झपकी लेकर टाइम पास कर रहे थे। ये हद दर्जे की लापरवाही इसलिए भी है क्योंकि गर्मी की छुट्टियों के बाद नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने जा रहा है और गंभीरता के साथ कक्षा पहली, 6टी और 9वीं में शत-प्रतिशत बच्चों का प्रवेश कराने का लक्ष्य रखा गया है। डीईओ पीएस सोलंकी, डीपीसी आरके सेन, डाइट प्राचार्य संजीव भालेराव सहित अन्य मौजूद थे। बता दें कि 16 जून से सरकारी स्कूल खुलने वाले हैं और इस मौके पर प्रवेशोत्सव भी मनाया जाना है।



कलेक्टर ने एेसे बढ़ाया हौसला, हिदायत भी दी
  • डीईओ या कलेक्टर की स्वीकृति के बगैर शिक्षकों को गैर शैक्षणिक काम में नहीं लगा सकेंगे।
  • चुनावी ड्यूटी लगाई जाएगी, इसे निभाना भी है, इसका उल्लेख आरटीई एक्ट में भी है।
  • बीएलओ की ड्यूटी संस्था में ही लगाई जाएगी, ताकि वो शैक्षणिक काम गुणवत्ता से करा सकें।
  • किशोरी बालिकाओं को स्कूल से फिर से जोडऩे के लिए आंगनवाड़ी के माध्यम से ओपन के फार्म भरवाएं।
  • सोशल मीडिया पर टीचर प्रोफेशनल लर्निंग ग्रुप बनाकर एक-दूसरे के अनुभव बांटें और उससे सीखें।
  • बाल मजदूरी के लिए अब जिम्मेदार सीएमओ व कमिश्नर होंगे, ये अपना सूचना तंत्र और मजबूत करें।
  • स्कूलों के अधोसंचनात्मक विकास की जिम्मेदारी संबंधित नगरीय निकाय की है, गंभीरता से ध्यान दें।
  • 43 जन शिक्षा केंद्र थे, हमने 170 उप जनशिक्षा केंद्र बनाए ताकि कम क्षेत्र में मॉनिटरिंग बेहतर हो सके।

latest news of swati meena khandwa collector




इन्हें साथ मिलकर काम करने की जिम्मेदारी
महिला बाल विकास, जिला श्रम अधिकारी, नगर निगम, सीएमएचओ, जनपद सीईओ और सामाजिक न्याय विभाग।


गांव में फिल्म दिखाकर स्कूल लाने का फंडा
ग्राम पंचायत के सहयोग से गांवों में दंगल, निल बटे सन्नाटा जैसी संदेश देने वाली फिल्में दिखाने की कार्ययोजना बनी है। इससे बच्चे जरूर आएंगे और शिक्षा विभाग को ये पता लग सकेगा कि कौन-कौन से बच्चे स्कूल नहीं आते हैं।



प्रवेशोत्सव में नवाचार पर मिलेगा पुरस्कार
मंच से कलेक्टर ने कहा कि 16 जून से स्कूल खुल रहे हैं। जो भी रचनात्मक प्रवेशोत्सव मनाएगा वो अपनी एंट्री हमें भेजे। चयनित होने पर पुरस्कृत करेंगे। 2 जुलाई को पौधरोपण में सहयोग करे। बच्चों को भी पर्यावरण से जोड़ें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned