Live video-- क्यों परेशान हुए बस यात्री, बस चालक-परिचालक

अव्यवस्थाओं के बीच शुरू हुआ डिपो से बसों का संचालन
-पेयजल, शौचालय के लिए परेशान होते रहे यात्री
-डिपो से बस स्टैंड तक जाने के लिए भी देना पड़ा ज्यादा किराया
-पुलिस अधिकारियों के सामने चालक-परिचालकों ने बताई परेशानी

By: मनीष अरोड़ा

Published: 07 Sep 2021, 11:37 PM IST

Barwani, Barwani, Madhya Pradesh, India

खंडवा.
सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार मंगलवार से हरदा, होशंगाबाद, देड़तलाई की ओर जाने वाली बसों का संचालन सूरजकुंड पुराने बस डिपो से हुआ। पहले ही दिन यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। बस डिपो में बसों का संचालन तो शुरू कर दिया, लेकिन सुविधाएं नाम मात्र की भी नहीं थी। यहां शौचालय, पीने के पानी के लिए भी यात्री परेशान होते रहे। वहीं बारिश के चलते ग्राउंड में चारों ओर कीचड़ फैला हुआ था, जहां निगम ने सिर्फ गिट्टी की चूरी डाल दी। जिसके कारण यहां वाहन भी फंसते रहे।
मंगलवार सुबह हरदा, होशंगाबाद, गुड़ी, देड़तलाई के लिए बसें पुराने बस स्टैंड से ही चलीं। दोपहर 12 बजे बाद यातायात पुलिस ने इन बसों को यहां आने से रोका और पुल पार सूरजकुंड बस स्टैंड पहुंचाया। इंदौर, खरगोन, बुरहानपुर, पुनासा की ओर से आने वाले यात्रियों, जिन्हें हरदा, हरसूद, गुड़ी की ओर जाना था, को पुराने बस स्टैंड से सूरजकुंड बस डिपो तक जाने के लिए भी ऑटो में दोगुना किराया देना पड़ा। दोपहर में यहां पहुंचे सीएसपी ललित गठरे, डीएसपी यातायात संतोष कोल, सूबेदार धरम जामोद के सामने चालक परिचालकों ने अपनी समस्या बताई। डीएसपी यातायात का कहना था कि समिति की बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार ही कार्रवाई कर रहे हैं। सुविधाओं के लिए नगर निगम को बोला गया है, धीरे धीरे कर सारी व्यवस्था यहां की जाएगी।
ऑटो वालों और एजेंटों के बीच हुई कहासुनी
पुलिस अधिकारियों के सामने बस चालक, परिचालक और एजेंटों ने आरोप लगाया कि यहां से पुराने बस स्टैंड और नए बस स्टैंड तक जाने के लिए यात्रियों से ऑटो वाले ज्यादा किराया वसूल रहे हैं। ऑटो का किराया यात्री को गंतव्य तक की यात्रा के किराये से ज्यादा देना पड़ रहा है। इस बात को लेकर ऑटो वालों ने विरोध जताया। इस दौरान एजेंटों और ऑटोवालों के बीच बहस भी हुई। ऑटो वालों का कहना था कि यहां से पुराने बस स्टैंड तक 10 रुपए सवारी और नए बस स्टैंड तक 20 रुपए सवारी ले रहे हैं। जो लोग सेपरेट ऑटो कर रहे है, उनसे भी वाजिब किराया लिया जा रहा है।
बसों को बंद कराया, भारी वाहन चल रहे
बस चालक, परिचालको का कहना था कि पुल पर से यातायात दबाव कम करने के लिए बसों का संचालन माखनलाल चतुर्वेदी बस स्टैंड से बंद कराया गया है। भारी और लोडिंग वाहन तो धड़ल्ले से बड़े पुल पर से गुजर रहे है। इस समस्या का हल बसों का संचालन बंद कराने से नहीं होगा। इसके लिए बायपास या रिंग रोड आवश्यक है। बस चालक-परिचालकों ने ये भी विकल्प रखा कि परमिट के तय समय से पांच मिनट पहले बसें वहां पहुंचे और भरकर निकल लाए। इस पर यातायात पुलिस ने साफ मना कर दिया।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned