अब घर लौटूंगी तो परिवार की बदनामी होगी, प्रेमी के साथ जंगल में जहर पीकर प्रेमिका ने की आत्महत्या

मूंदी थाना क्षेत्र के ग्राम बोरानी का मामला, घर से डेढ़ किमी दूर जंगल में खंती में मिले प्रेमी युगल के शव
किशोरी और युवक दूर के रिश्ते में लगते हैं मौसेरे भाई-बहन

 

खंडवा. प्यार का दिन कहे जाने वाले वेलेंटाइन-डे पर प्रेमी युगल ने एक-दूसरे से अलग होने के डर से आत्महत्या कर ली। मामला मूंदी थाना क्षेत्र के ग्राम बोरानी के जंगल का है। शुक्रवार सुबह ग्रामीण जंगल की ओर गए। तभी ग्राम से करीब डेढ़ किमी दूर स्थित खंती में युवक-किशोरी के शव पड़े मिले। ग्रामीण ने इसकी जानकारी गांव में दी। सूचना पर मूंदी पुलिस मौके पर पहुंची और मामले में तफ्तीश शुरू की। घटनास्थल से जहर की बोतल मिली। वहीं युवक की पहचान 18 वर्षीय धर्मेंद्र (परिवर्तित नाम) निवासी बोरानी हाल निवास होशंगाबाद और किशोरी की पहचान 16 वर्षीय सीमा (परिवर्तित नाम) निवासी केसला होशंगाबाद के रूप में हुई है। शवों का पंचनामा बनाकर अस्पताल भेजा गया। इधर, मामले की सूचना मिलते ही मृतकों के परिजन मूंदी स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गए। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिए गए। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि मृतक किशोरी और युवक दूर के रिश्ते में मौसेरे भाई-बहन लगते हंै।
होशंगाबाद से आई थी किशोरी

पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया कि सीमा गुरुवार रात होशंगाबाद से ग्राम बोरानी धर्मेंद्र के घर आई थी। दोनों एक साथ रहना चाहते थे। इसी दौरान धर्मेंद्र ने बड़े भाई लक्ष्मण निवासी गुना से मोबाइल पर बात की। उसने सीमा के भागकर बोरानी आने की बात बताई। किशोरी ने भी भाई से बातकर धर्मेंद्र के साथ रहने का बोला। साथ ही बोली अब यदि मैं घर वापस लौटंूगी तो परिवार की बदमानी होगी। लक्ष्मण ने दोनों को समझाया, लेकिन धर्मेंद्र ने मरने की बात कहकर फोन काट दिया। इसके बाद लक्ष्मण ने मामले की खबर परिजन को दी। परिजन जब तक दोनों को तलाश पाते, उन्होंने जहर पीकर आत्महत्या कर ली।
सुबह जंगल पहुंचे थे

मृतक धर्मेंद्र की दादी ग्राम बोरानी में रहती है। कुछ दिन पहले ही धर्मेंद्र होशंगाबाद से दादी के पास आया था। वेलेंटाइन-डे वीक के चलते धर्मेंद्र से मिलने के लिए गुरुवार को अचानक सीमा बोरानी पहुंच गई। दोनों घर पर रुके। ग्रामीणों ने बताया रात के समय धर्मेंद्र को गांव में देखा था। इससे संदेह है कि दोनों ने तड़के जंगल में पहुंचकर जहर पीकर आत्महत्या की है। हालांकि मामले में पुलिस जांच कर रही है।

होशंगाबाद में किशोरी के पड़ोस में रहता था मृतक

धर्मेंद्र कुछ वर्षों पहले ही परिवार के साथ बोरानी से होशंगाबाद रहने चला गया था। वह किशोरी के घर के पास ही रहता था। पड़ोसी होने के कारण उनकी पहचान बढ़ी और प्यार में बदल गई। दोनों एक-दूसरे के साथ जिंदगी बिताना चाहते थे, लेकिन रिश्तेदार होने के कारण उन्हें डर था कि परिवार उनकी शादी के लिए राजी नहीं होंगे। संदेह जताया जा रहा है कि एक-दूसरे से अलग होने के डर से ही प्रेमीयुगल ने जहर पीकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली।

एक चिता पर दी अंतिम विदाई
जिंदगी भर साथ न रह पाने के डर से आत्महत्या करने वाले प्रेमीयुगल को परिजन ने शुक्रवार शाम मूंदी स्थित मुक्तिधाम में एक ही चिता पर अंतिम विदाई थी। ग्रामीणों ने कहा धर्मेंद्र ने अपने भाई से मरने की बात कही थी। उसने परिजन को बताया। सुबह करीब 5 बजे से दोनों की तलाश कर रहे थे, लेकिन जब तक उन्हें तलाश पाए दोनों ने आत्महत्या कर ली थी। यदि वह परिवार से बात करते तो यह कदम नहीं उठाना पड़ता।

वर्जन...
बोरानी के जंगल में जहर पीकर युवक और किशोरी ने आत्महत्या की है। किशोरी होशंगाबाद से युवक के घर बोरानी आई थी। दोनों के बीच प्रेमप्रसंग होने की बात सामने आ रही है। मामले में मर्ग कायम किया है। परिजन के बयान लेने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अंतिम पवार, टीआइ, मूंदी

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned