अच्छी खबरः क्षतिग्रस्त हुए मोरटक्का पुल पर डामरीकरण का कार्य शुरू, तीन दिनों में होगा पूरा

पांच दिन बाद मोरटक्का पुल से वाहनों की आवाजाही शुरू होने की उम्मीद, अफसरों की निगरानी में हो रहा मरम्मत कार्य

खंडवा. नर्मदा में आई बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए इंदौर-इच्छापुर हाइवे पर बने मोरटक्का पुल पर डामरीकरण का कार्य शुक्रवार से शुरू कराया गया है। डामरीकरण का कार्य पूरा होने में करीब तीन दिनों का समय लगेगा। इसके बाद आगामी पांच दिन बाद मोरटक्का पुल से वाहनों की आवाजाही शुरू होने की उम्मीद है। वाहनों के लिए पुल चालू होते ही खंडवा से इंदौर जाने वाले राहगीरों को राहत मिलेगी। क्योंकि इस समय चार पहिया वाहन चालक करीब 100 किमी लंबा चक्कर लगाकर इंदौर पहुंच रहे हैं। इधर, पुल का मरम्मत का कार्य एनएचएआइ और एमपीआरडीसी के अधिकारियों की निगरानी में किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि ऊपरी क्षेत्र में भारी बारिश और बांधों के गेट खोले जाने से नर्मदा में बाढ़ आई थी। इसके चलते 29 अगस्त को मोरटक्का पुल वाहनों की आवाजाही के लिए बंद किया गया था। वहीं तीन दिन पुल पानी में डूबे रहने से क्षतिग्रस्त हुआ था।
21 दिनों से बंद पुल की रेलिंग का कार्य 75 फीसदी पूरा
बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए पुल के मरम्मत कार्य में एमपीआरडीसी, एनएचएआइ की संयुक्त टीम लगी हुई है। पुल को बंद हुए 21 दिन बीत चुके हैं। शुक्रवार को मोरटक्का पहुंची एमपीआरडीसी की एजीएम वर्षा अवस्थी ने कहा पुल की रेलिंग का करीब 75 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। डामरीकरण कार्य शुरू है। डामर इंदौर के प्लांट से मंगाया जा रहा है। इसलिए कार्य में देरी हो रही है। लेकिन आगामी पांच दिनों में पुल का मरम्मत कार्य पूरा कर वाहनों की आवाजाही शुरू कराने की हरसंभव कोशिश की जा रही है।

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned