10 करोड़ के प्रोजेक्ट को रेरा की स्वीकृति, 54 एलआइजी मकान की बनेगी कॉलोनी

10 करोड़ के प्रोजेक्ट को रेरा की स्वीकृति, 54 एलआइजी मकान की बनेगी कॉलोनी
10 करोड़ के प्रोजेक्ट को रेरा की स्वीकृति, 54 एलआइजी मकान की बनेगी कॉलोनी

Riyaz Sagar | Updated: 11 Jul 2019, 10:46:31 PM (IST) Khandwa, Khandwa, Madhya Pradesh, India

नगर निगम का गणेशतलाई में चल रहा है प्रोजेक्ट राशि का उपयोग पीएम आवास के एएचपी घटक में हो पाएगा

खंडवा. नगर निगम और शहरवासियों के लिए एक अच्छी खबर आई है। १० करोड़ रुपए के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को रेरा की स्वीकृति मिल गई है। ५४ एलआइजी मकान बनाने में अब तेजी आएगी। इसका फायदा पीएम आवास के एएचपी घटक में भी होगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निगम शहर के गणेशतलाई क्षेत्र में एलआइजी मकानों की कॉलोनी विकसित कर रहा है, लेकिन यहां मॉडल बतौर एक मकान बनाने के बाद आगे की प्रक्रिया ठप हो गई थी।

जिसकी सबसे बड़ी वजह रेरा से स्वीकृति नहीं मिल पाना रहा। लेकिन अब जबकि दूसरी बार रेरा में आवेदन किया गया, कमियां दूर होते ही प्रोजेक्ट को हरी झंडी मिल गई है। मप्र भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी ने निगम को इ-मेल से इसकी जानकारी दी है। अब निगम इस एलआइजी मकानों की इस कॉलोनी को तेजी से तैयार कर सकेगा।
अब आगे ये होगा
रेरा की अनुमति मिलते ही निगम अब इस प्रोजेक्ट का प्रचार-प्रसार कर पाएगा
बैंकों से चर्चा कर प्रोजेक्ट में ऋण स्वीकृति की प्रक्रिया में तेजी लाई जाएगी
खुद का घर खरीदने की सोच रहे लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प मिल रहा
सड़क, बिजली, पानी सहित अधोसंरचनात्मक विकास यहां जल्द ही हो सकेंगे
दूसरे प्रोजेक्ट में काम आएगी राशि
निगम द्वारा एलआइजी मकानों की कॉलोनी से जो राशि आएगी, उसका उपयोग चीराखदान में एएचपी घटक के तहत बनाई गई मल्टी के मकानों में निगम के अंशदान के रूप में काम आएगा। यानी कि एक प्रोजेक्ट से दो फायदे होंगे।
मिल गई है रेरा स्वीकृति

अब आगे ये होगा
रेरा की अनुमति मिलते ही निगम अब इस प्रोजेक्ट का प्रचार-प्रसार कर पाएगा
बैंकों से चर्चा कर प्रोजेक्ट में ऋण स्वीकृति की प्रक्रिया में तेजी लाई जाएगी
खुद का घर खरीदने की सोच रहे लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प मिल रहा
सड़क, बिजली, पानी सहित अधोसंरचनात्मक विकास यहां जल्द ही हो सकेंगे
दूसरे प्रोजेक्ट में काम आएगी राशि
निगम द्वारा एलआइजी मकानों की कॉलोनी से जो राशि आएगी, उसका उपयोग चीराखदान में एएचपी घटक के तहत बनाई गई मल्टी के मकानों में निगम के अंशदान के रूप में काम आएगा। यानी कि एक प्रोजेक्ट से दो फायदे होंगे।
मिल गई है रेरा स्वीकृति

हमें गणेशतलाई के एलआइजी मकानों की कॉलोनी के लिए रेरा से स्वीकृति मिल गई है। जो कमियां पाई गई थी, उन्हें हमने दूर किया था। अब प्रोजेक्ट में तेजी लाई जा सकेगी।
सुमित जैन, सीए, ननि
ये एक अच्छी खबर है
&प्रोजेक्ट को रेरा से स्वीकृति मिलना एक अच्छी खबर है। अब इसे जल्द ही पूरा कराएंगे। जिस तरह मॉडल के रूप में एक मकान बनाया है, शेष भी जल्द ही बनवाएंगे।
हिमांशु सिंह, आयुक्त, ननि

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned