ये है नगर निगम और उसके जोन कार्यालय, यहां पीने को नहीं पानी, कर्मचारी खुद के खर्च पर बुलवाते हैं केन

Amit Jaiswal

Publish: Jun, 14 2018 01:04:34 PM (IST) | Updated: Jun, 14 2018 01:08:32 PM (IST)

Khandwa, Madhya Pradesh, India
ये है नगर निगम और उसके जोन कार्यालय, यहां पीने को नहीं पानी, कर्मचारी खुद के खर्च पर बुलवाते हैं केन

जिम्मेदारों के मिस-मैनेजमेंट की तस्वीरें... शहर को पानी पिलाने की जिम्मेदारी लेकिन निगम में पेयजल की उपलब्धता पर सवाल।

खंडवा. पूरे शहर को पानी पिलाने की जिम्मेदारी जिस नगर निगम पर है, उसके हेड ऑफिस से लेकर जोन कार्यालयों तक में पीने के पानी के पर्याप्त बंदोबस्त नहीं है। यहां आने वाले लोगों को पानी के लिए भटकना पड़ता है। इन हालातों से दो-चार होते कर्मचारियों ने तो अब यहां खुद के खर्च पर पानी की केन बुलवाना शुरू कर दी है। महापौर सुभाष कोठारी, निगमाध्यक्ष रामगोपाल शर्मा, निगमायुक्त जेजे जोशी और कार्यपालन यंत्री ईश्वरसिंह चंदेली इस पूरे मामले को देख कर भी अनदेखा कर रहे हैं।

हालात-ए-निगम और जिम्मेदारों के मिस मैनेजमेंट को बयां करती तस्वीरें...
1. वाटर कूलर बंद, नल में आता है पानी तब भर पाते हैं बोतल
स्थान: नगर निगम का हेड ऑफिस
स्थिति: टैक्स जमा करने से लेकर समग्र आईडी, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र, राशनकार्ड, पेंशन सहित अन्य कामों के लिए यहां आने वाले लोगों को पानी के लिए भटकना पड़ता है। कई कर्मचारियों ने 3 या 4 का समूह बनाकर आरओ पानी की केन मंगवाना शुरू कर दी है, इस पर जो राशि खर्च होते ही वो मिल-जुलकर देते हैं। 25 दिन से बंद पड़ा वाटर कूलर में सुधार नहीं हो रहा है। नल में पानी आता है तब बोतल भर पाते हैं।

2. जोन कार्यालय में भी केन के सहारे ही तर हो पाते हैं कंठ
स्थान: सिविल लाइंस स्थित निगम का जोन कार्यालय
स्थिति: शहर के सिविल लाइंस में स्थित निगम के जोन कार्यालय के भी यही हाल हैं। यहां नीचे वाटर कूलर लगा हुआ है लेकिन टंकी कई बार खाली हो जाती है और फिर इसमें पानी नहीं मिलता। ऊपर जनकार्य एवं उद्यान विभाग में कार्यरत कर्मचारियों के कंठ केन के सहारे ही तर हो पाते हैं। यहां आने वाले लोगों को भी यही पानी दिया जाता है, इस वजह से केन जल्दी खाली होती है। कई बार दोपहर बाद यहां पानी खत्म हो जाता है।

3. जल शाखा में भी यही हाल, यहां भी आती है केन
स्थान: शिवाजी चौक स्थित वाटर वक्र्स कार्यालय
स्थिति: निगम के जल शाखा कार्यालय में भी पीने के पानी के पर्याप्त बंदोबस्त नहीं हैं। यहां भी छत पर बनी टंकी में बार-बार पानी खत्म होने की समस्या है, इसलिए वाटर कूलर से भी कई बार खाली हाथ लौटना पड़ता है। यहां कार्यरत कर्मचारियों ने भी पानी की व्यवस्था के लिए केन लगा रखी है। ये भी इस पर होने वाली खर्च राशि आपस में शेयर करके देते हैं।

- जल्द सुधार देंगे व्यवस्था
हेड ऑफिस के वाटर कूलर में तकनीकी खराबी होने से वो बंद पड़ा है। हम जल्द ही व्यवस्था सुधार देंगे।
कमल रघुवंशी, कार्यालय अधीक्षक

- नया वाटर कूलर लगवाएंगे
नगर निगम में पानी की व्यवस्था बनाने के लिए नया वाटर कूलर लगवाएंगे। जोन ऑफिसों को भी दिखवाता हूं।
जेजे जोशी, आयुक्त, ननि

- मैंने दिए हैं निर्देश
निगम में पानी की व्यवस्था बनाए रखने के लिए मैंने निर्देश दिए हैं। जल्द ही इस पर अमल होगा।
सुभाष कोठारी, महापौर

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned