मोरटक्का पुल खोलने टेस्टिंग कर गड्ढे भरवाए, मगर शाम को जलस्तर बढऩे पर टला निर्णय

मोरटक्का पुल खोलने टेस्टिंग कर गड्ढे भरवाए, मगर शाम को जलस्तर बढऩे पर टला निर्णय
Narmada flood in Omkareshwar, Mortakka bridge closed for five days

Jitendra Tiwari | Updated: 14 Sep 2019, 07:10:01 AM (IST) Khandwa, Khandwa, Madhya Pradesh, India

पांचवें दिन बंद रहा इंदौर-इच्छापुर हाइवे स्थित मोरटक्का, भारी वाहनों का आवागमन प्रभावित

खंडवा. बांधों से छोड़े जा रहे पानी के कारण नर्मदा उफान पर हैं। इसके चलते इंदौर-इच्छापुर हाइवे पर बना मोरटक्का पुल पिछले पांच दिनों से बंद है। खंडवा का इंदौर से संपर्क टूटा है। शुक्रवार को प्रशासन ने नर्मदा का जलस्तर कम होने पर सुबह मोरटक्का पुल से यातायात शुरू करने की योजना बनाई। अधिकारियों ने पुल का निरीक्षण किया और यातायात शुरू करने के लिए पुल की मजबूती की जांच की। वहीं वाहनों का काफिला निकालकर पुल की टेस्टिंग की गई। इसके अलावा बारिश के दौरान पुल पर हुए गड्ढों का मरम्मत कार्य कराया गया। शाम तक पुल खोलने की तैयारी थी। लेकिन लगातार हो रही बारिश से बांधों का जलस्तर एक बार फिर बढ़ गया। इस कारण बांधों से पानी छोडऩे जाने की सूचना प्रबंधन ने दी। पानी छोड़े जाने पर दोबारा नर्मदा का जलस्तर बढ़ेगा। इसे देखते हुए प्रशासन ने मोरटक्का पुल से आवागमन शुरू करने के निर्णय को टाल दिया। शनिवार शाम तक नर्मदा का जलस्तर सामान्य हुआ तो प्रशासन पुल से वाहनों का आवागमन शुरू कर सकता है। यहां बता दें खतरे के निशान से नर्मदा ऊपर आने पर रविवार रात 12 बजे पुल बंद किया गया था।

20 हजार क्यूमेक्स पानी छोडऩे से बढ़ा जलस्तर
ओंकारेश्वर बांध के बढ़े जलस्तर को नियंत्रित करने के लिए शुक्रवार शाम 7 बजे के बाद बांध के 18 गेटों से 20 हजार क्यूमेक्स पानी छोड़ा गया। यह पानी नर्मदा में पहुंचने से पानी फिर खतरे के निशान को पार कर गया है। यही कारण है कि मोरटक्का पुल नहीं खोला जा सका। वहीं गुरुवार रात से शुक्रवार शाम 6 बजे बांध के 18 गेटों से 15089 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा था। इधर, ओंकारेश्वर में बिजली का उत्पादन बंद है। सभी आठ टरबाइन बंद रखी गई हैं।

तवा का पानी इंदिरा में पहुंच रहा
इधर, तवा डेम से छोड़ा जा रहा पानी लगातार इंदिरासागर बांध के केचमेंट एरिया में पहुंच रहा है। शाम 6 बजे बांध का जलस्तर 261.60 मीटर पर था। जलस्तर को नियंत्रित करने के लिए बांध के 12 गेटों को साढ़े पांच मीटर तक खोलकर रखा गया है। इस दौरान गेटों से 15500 क्यूमेक्स और टरबाइन से 1840 क्यूमेक्स पानी प्रति सेकंड छोड़ा जा रहा है।

वर्जन...
नर्मदा का जलस्तर कम होते देख पुल खोलने की तैयारी की थी। सुबह से पुल की टेस्टिंग कर गड्ढों की मरम्मत कराई गई। लेकिन बारिश होने के कारण बांध से फिर बड़ी मात्रा में पानी छोड़ा जाना है। इसलिए मोरटक्का पुल नहीं खोला गया। पानी का स्तर कम होने पर ही पुल खोला जाएगा।

डॉ. ममता खेड़े, एसडीएम, पुनासा
बांधों की स्थिति...
इंदिरासागर बांध...

-बांध का जलस्तर- 261.60 मीटर
-खुले गेटों की संख्या- 12

-छोड़ा जा रहा पानी- 17340 क्यूमेक्स
ओंकारेश्वर बांध...
-बांध का जलस्तर- 192.80 मीटर

-खुले गेटों की संख्या- 18
-छोड़ा जा रहा पानी- 15089 क्यूमेक्स

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned