ऐसे में कैसे लाएंगे मेडल, यहां एक वॉशरूम के भरोसे 200 राष्ट्रीय खिलाड़ी

अव्यवस्थाओं के बीच आज से राष्ट्रीय शालेय क्रिकेट और लागौरी प्रतियोगिता, नहाने के लिए सिर्फ एक बाल्टी, पहले दिन नहाने के पानी तक की कमी...

By: संजय दुबे

Published: 01 Nov 2017, 12:26 PM IST

खंडवा (पत्रिका). शहर में १ से ५ नवंबर तक आयोजित राष्ट्रीय शालेय क्रिकेट और लागौरी की स्पद्र्धा के लिए आए खिलाडि़यों को अव्यवस्थाओं से दो-चार होना पड़ रहा है। नौबत यहां तक आन पड़ी है कि एक वॉशरूम के भरोसे २०० खिलाड़ी ठहराए गए हैं।
जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में रूके खिलाडि़यों के साथ कुछ एेसी ही स्थिति बन रही है। खिलाडि़यों का कहना है कि पहले ही दिन यहां नहाने के पानी तक की कमी देखने को मिली। इसके अलावा कमरों में भी साफ-सफाई व पर्याप्त बिस्तर का अभाव है। बता दें कि बुधवार से शुरू हो रही स्पद्र्धा में १६ राज्यों की टीमों में ४०५ खिलाड़ी शामिल हो रहे हैं।
राष्ट्रीय शालेय अंडर-१७ गल्र्स क्रिकेट और लागौरी की अंडर-१९ गल्र्स और बॉयज स्पद्र्धा की शुरूआत बुधवार को होगी। सुबह लागौरी व क्रिकेट का एक-एक मैच खेला जाएगा। दोपहर में नगर निगम से बॉम्बे बाजार तक रैली निकलेगी। शाम को ४ बजे स्टेडियम पर उद्घाटन होगा। बता दें कि लागौरी के मैच सेंट पायस में होंगे।
अंडर-१७ क्रिकेट में यहां से आईं टीमें...
स्पद्र्धा में आंधप्रदेश से १६, सीबीएसई संगठन से १३, छत्तीसगढ़ से १६, दिल्ली से १६, गुजरात से १६, हरियाणा से १६, जम्मू-कश्मीर से १६, मध्यप्रदेश से १३, महाराष्ट्र से १६, उड़ीसा से १६, पंजाब से १६, तमिलनाडु से १६, तेलंगाना से १६, उत्तरप्रदेश से १६ खिलाड़ी आएंगे।
लागौरी में अंडर-१९ गल्र्स-बॉयज की टीमें यहां से आईं...
सीबीएसई संगठन गल्र्स व बॉयज में क्रमश: १२ व ९, गुजरात, मध्यप्रदेश, पंजाब और तेलंगाना से १२-१२, गोवा से १२-१० और विद्या भारती से१२ गल्र्स व १२ बॉयज आएंगे।

एक वॉशरूम से दिक्कत
यहां २०० खिलाड़ी रुकवाए गए हैं और सिर्फ एक वॉशरूम है। हमें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
तेजस मकवाना, कोच,लागौरी, गुजरात

पानी की कमी से परेशानी
नहाने के लिए पानी की कमी से हमें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आयोजकों को पर्याप्त व्यवस्थाएं करना चाहिए।
धवल वाघेला, खिलाड़ी

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned