protest - पानी नहीं मिला तो हाइवे पर किया चक्काजाम, नारेबाजी कर नगर निगम के सामने फोड़े मटके

खंडवा-अमरावती हाइवे के माता चौक क्षेत्र में चक्काजाम, जमीन पर लेट गए क्षेत्रवासी
पदमकुंड वार्ड की महिलाओं ने निगम के सामने नारेबाजी कर मटके फोड़े व धरना दिया
शहर में जलसंकट, क्योंकि बार-बार फूट रही नर्मदा जल योजना की पाइपलाइन

By: tarunendra chauhan

Published: 08 Oct 2020, 07:28 PM IST

खंडवा. नर्मदा जल योजना की पाइपलाइन बार-बार फूट रही है। इस वजह से शहर में जलसंकट की स्थिति बन गई है। परेशान लोगों के सब्र का बांध टूट गया और गुस्सा आक्रोशम में तब्दील हो गया। खंडवा-अमरावती हाइवे के माता चौक क्षेत्र में महिलाओं व रहवासियों ने बुधवार सुबह करीब 10.30 बजे सड़क पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। खाली बर्तन लेकर सड़क पर डेरा डाला, जिससे वाहनों के चक्के थम गए। बहसबाजी भी खूब हुई। सूचना मिलने पर नगर निगम इंजीनियर, तहसीलदार व पुलिसकर्मी पहुंचे। इन्होंने समझाइश दी। लेकिन, लोग मानने को तैयार न थे। महिलाओं ने कहा- हमें पानी मिलेगा, उसके बाद ही हटेंगे। जलशाखा प्रभारी संजय शुक्ला ने लिखकर दिया। इसके बाद लोग माने।

36 घंटे में दो बार पाइप फूटने से बिगड़ा सिस्टम
नर्मदा जल योजना की पाइपलाइन 36 घंटे में दो बार फूट गई। इस वजह से शहर में पेयजल सप्लाई का पूरा सिस्टम बिगड़ गया। मंगलवार रात में फूटी लाइन का सुधार कार्य बुधवार अलसुबह 4.30 बजे पूरा हुआ। इसके बाद 50 किमी पाइपलाइन भरी। शहर के सर्किट हाउस स्थित संपवेल का लेवल लेने के बाद शाम 4.15 बजे पहला पंप शुरू किया। इसके बाद शहर में सप्लाई शुरू हुई।

पूर्व पार्षद ने कहा- हाथ जोड़ता हूं, आप उठो
पूर्व पार्षद ओमप्रकाश सिलावट ने लोगों से कहा- ट्यूबवेल चालू करा दूंगा। हाथ जोड़ता हूं, आप उठो। 10 मिनट में टैंकर बुलवा दूंगा। गुस्साए लोगों ने कहा- आयुक्त से बात कराओ, हम उठ जाएंगे। पानी दो, पानी दो के नारे लगाते हुए क्षेत्रवासी सड़क पर लेट गए तो निगम इंजीनियर शुक्ला ने कागज पर लिखकर दिया कि पंजाब कॉलोनी का वॉल्व ओपन करेंगे, सुक्ता का पानी आज ही देंगे।

मटके फोड़ जताया आक्रोश, निगम के सामने डटे
वार्ड-29 पदमकुंड की पूर्व पार्षद शारदा आह्वाड़ के नेतृत्व में महिलाओं ने शाम 4 बजे निगम के सामने नारेबाजी की और मटके फोड़कर गुस्से का इजहार किया। काजल डोंगरे, ममता सेन, सोनू शर्मा सहित अन्य ने कहा कि जलसंकट ने सबकुछ अस्त-व्यस्त कर दिया है। पूर्व पार्षद आह्वाड़ ने कहा कि नर्मदा जल योजना में विसंगति व भ्रष्टाचार करने वाले अधिकारी, नेताओं पर कार्रवाई करने तथा ग्राम चारखेड़ा से शहर खंडवा तक डीपीआर अनुसार पाइप मटेरियल पुन: डाले जाने व जनता को जलसंकट से मुक्ति दिलाए जाने के लिए जिम्मेदारों को ठोस कदम उठाना चाहिए।

Show More
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned