कोरोना का कहर.. अब निगेटिव मरीज भी हो रहे मौत का शिकार

24 घंटे में पांच मरीजों की मौत, सभी की रिपोर्ट निगेटिव
-एक डीसीएच में और चार सारी वार्ड में थे भर्ती
-देरी से अस्पताल आ रहे मरीज, बिगड़ रही स्थिति
-27 नए मरीज मिले, 181 हुए एक्टिव केस, 37 गंभीर

खंडवा.
कोविड अस्पताल के सारी वार्ड और डीसीएच वार्ड में 24 घंटे में पांच मरीजों की मौत हो गई। सभी की रिपोर्ट कोरोना निगेटिव थी, लेकिन स्थिति गंभीर होने से रिकवर नहीं हो पाए। कोरोना की दूसरी लहर में पॉजीटिव मरीजों के साथ ही निगेटिव मरीजों की भी लगातार मौत हो रही है। रिटर्न हुए कोरोना वायरस से ग्रसित मरीज पॉजीटिव से निगेटिव होने के बाद भी ठीक नहीं हो पा रहे है। सारी वार्ड में पिछले एक माह में लगभग 16 मौत हो चुकी है। डॉक्टर्स का कहना है कि इलाज के लिए देरी से अस्पताल आना भी मौत का एक कारण बन रहा है।
गुरुवार रात से शुक्रवार शाम तक कोविड अस्पताल के सारी वार्ड में पांच मरीजों की मौत होना सामने आ रहा है। इसमें गुरुवार रात 12.20 बजे बुरहानपुर निवासी 80 वर्षीय मरीज की मौत हो गई। उन्हें रात 10.40 बजे खंडवा लाया गया था। उनकी रिपोर्ट निगेटिव थी। वहीं, शुक्रवार सुबह 7.30 बजे 65 वर्षीय महिला, 9.30 बजे 58 वर्षीय महिला, गणेश तलाई निवासी वृद्ध की भी सारी वार्ड में मौत हुई है। इसके साथ ही डीसीएच वार्ड में भी एक मरीज की मौत शुक्रवार को हुई। मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी, लेकिन ऑक्सीजन सेचुरेशन कम होने से बायपेप पर रखा हुआ था। दोपहर में उनकी मौत हो गई। अस्पताल सूत्रों के अनुसार सारी वार्ड में शुक्रवार रात तक भी 8 से ज्यादा मरीजों की स्थिति गंभीर बनी हुई थी।
हालत गंभीर होने के बाद आ रहे अस्पताल
कोविड आयसोलेशन प्रभारी डॉ. रंजीत बड़ोले ने बताया कि सारी वार्ड में मृत निगेटिव मरीजों की स्थिति निगेटव होने के बाद भी सुधर नहीं पा रही थी। सारी वार्ड में आ रहे मरीजों में अधिकतर हालत गंभीर होने के बाद अस्पताल आ रहे है। इन मरीजों का ऑक्सीजन सेचुरेशन भी 50-60 के आसपास था, जिसके कारण रिकवर करना बहुत मुश्किल हो रहा है। जो इलाज बीमारी की शुरुआत में मिलना चाहिए, वो आखिर में मिल रहा है, जिससे बीमारी खतरनाक रूप ले रही है। सभी मृतकों को अन्य बीमारियां जैस, बीपी, शुगर, सिवर निमोनिया भी था। जिसके कारण लंग्स पर भी असर हुआ है।
2848 पहुंच गई मरीजों की संख्या
शुक्रवार को 27 नए मरीज कोरोना पॉजीटिव पाए गए। जिले में अब कोरोना पॉजीटिव मरीजों की संख्या 2848 हो गई है। जिला महामारी विशेषज्ञ डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि गत 24 घंटे में 5 मरीजों को संक्रमण मुक्त होने पर डिस्चार्ज भी किया गया है। अब ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2600 हो गई है। जिले में कुल 181 एक्टिव केस बाकी बचे है। जिसमें से 37 मरीज कोविड वार्ड में भर्ती है। शुक्रवार को कुल 625 लोगों के सैंपल लिए गए है।
बुखार आने पर न करें लापरवाही
डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर पहले से ज्यादा खतरनाक है। सोशल डिस्टेंस, मास्क अनिवार्य का पालन करें। 45 से अधिक वाले लोगों को टीके लगना आरंभ हो गए है, सभी लोग टीके लगवाएं। बुखार, सर्दी-खांसी होने पर घर में इलाज ने ले, सीधे सरकारी अस्पताल आए। देर होने पर मरीज की स्थिति बिगड़ रही है।

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned