20 से अधिक गांवों में प्याज की फसल हुई खराब

किसान बोले- फसल बचाने नहीं मिल रही सही सलाह
जमीन के अंदर प्याज की जड़ें खराब होने से हजारों एकड़ की फसल बर्बाद

By: tarunendra chauhan

Published: 28 Sep 2020, 02:24 AM IST

खंडवा. किसानों पर एक बार फिर आफत आ गई है। खेतों में लगाई प्याज की फसल जमीन के अंदर से खराब हो रही। स्थिति यह है कि हजारों एकड़ में लगी प्याज फसल की जड़े खराब होने से सूखने लगी है। पंधाना और खंडवा ब्लॉक के 20 से अधिक ग्रामों में प्याज की फसल बर्बाद हुई है। इससे किसान फसल पर रोटावेटर चलाने की तैयारी कर रहे हैं। किसानों की मानें तो खेत में लगाई गई प्याज की फसल बढ़ नहीं रही है।

अधिक बारिश होने और जमीन में नमी होने के कारण प्याज की जड़ों पर कीटों ने अटेक किया है। जमीन के अंदर से प्याज की जड़े काट रहे हैं। इस कारण फसल खराब हो रही है। फसल बचाने के लिए खेत में दवाई डाली, लेकिन सही सलाह नहीं मिलने से उचित दवाई का छिड़काव नहीं कर पा रहे हैं। स्थिति यह है कि खंडवा में लगी कली की प्याज करीब 60 फीसदी और रोप की करीब 80 फीसदी प्याज फसल बर्बाद हो चुकी है।

इन ग्रामों की फसल हुई खराब
अचानक प्याज की फसल पर हुए कीटाणुओं के हमले से ग्राम खैगांव, मलगांव, कोरगला, बावडिय़ा काजी, खेगांवड़ा, भेरुखेड़ा, बडग़ांव गुर्जर, टिगरियाव, लाडऩपुर, काल्जाखेड़ी, सिलोदा, कुमठी सहित अन्य ग्रामों में लगी प्याज की फसल खराब हुई है।

पांच एकड़ में लगाई प्याज, दो की खराब हुई
किसान जितेन्द्र पिता रामलाल पटेल निवासी बावडिय़ा काजी ने बताया पांच एकड़ खेत में प्याज की फसल लगाई थी, लेकिन दो एकड़ की प्याज खराब हो गई है। प्याज बढ़ नहीं रही और उखाडऩे पर उसकी जड़े खराब निकल रही है। स्थिति यह है कि दो एकड़ की प्याज में रोटावेटर चलाना पड़ेगा। इधर, किसान की मानें तो प्याज लगाने से लेकर अब प्रति एकड़ करीब 40 हजार रुपए खर्चा कर चुका हूं। खाद, दवाइयों का छिड़काव किया, लेकिन फसल खराब होने से नहीं बच सकी। भारतीय किसान संघ जिला संयोजक सुभाष पटेल ने कहा हजारों एकड़ में लगी प्याज की फसल खराब हो गई है। फसल बचाने के लिए किसान दवाइयां खरीदकर छिड़काव कर रहे हैं, लेकिन उचित दवाइ नहीं मिलने से फसल खराब होने से नहीं बच पा रही है। वहीं जिम्मेदार अधिकारी भी फसल खराब होने से बचाने के लिए किसानों को सही दवाइयों की सलाह नहीं दे रहे।

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned