scriptPeople of 50 years of age are more prone to paralysis in winter, keep | सर्दी में इस उम्र के लोगों को अधिक खतरा, रखें ध्यान नहीं तो पड़ सकते हैं मुश्किल में | Patrika News

सर्दी में इस उम्र के लोगों को अधिक खतरा, रखें ध्यान नहीं तो पड़ सकते हैं मुश्किल में

जुबान लड़खड़ाए, चक्कर आए तो लकवा की आशंका, कोलेस्ट्राल पर भी नियंत्रण जरूरी

खंडवा

Published: December 25, 2021 08:12:48 pm

खंडवा. प्रदेश में कड़ाके की शर्दी के बीच लोगों को स्वास्थ्य की समस्याएं बढ़ने लगी हैं। शाम ढहले ही सर्द हवाएं, परेशान करती हैं। ऐसे में बचाव बहुत जरूरी है। जी हां, ठंड के दिनों में लकवा जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

people_of_50_years_of_age_are_more_prone_to_paralysis_in_winter.png

इन दिनों अस्पताल में इस तरह के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। इसका अधिक असर 50 से अधिक यानी बुजुर्गों पर ज्यादा रहता है। जिला अस्पताल के प्रभारी सिविल सर्जन मेडिकल स्पेशलिस्ट एमडी मेडिसिन डॉ ओपी जुगावत का कहना है कि डायबटीज, ब्लड प्रेशर मरीजों को खान पान का विशेष ध्यान रखने की जररूत है।

कोलेस्ट्राल पर नियंत्रण रहने से इससे बचा जा सकता है। नशा करने वाले लोगों पर इसका खतरा अधिक रहता है। इस लिए नशे का सेवन करना बंद कर देना चाहिए। वही ठंड हवाओं से बचकर रोज टहलें और क्षमता के अनुसार 15-20 मिनट तक व्यायाम करें। इससे लाभ होगा।

ppppppp_1.jpg

सिविल सर्जन ओपी जुगतावत ने बताया कि शर्दी में इन रोगों से बचने के लिए सावधानी जरूरी है। इसमें लकवा रोग से बचने के लिए इन लक्षणो पर ध्यान दें दिमागी दौरा जब पड़ता है तो उसके शुरूआती लक्षण में जुबान लड़खड़ाती है। चक्कर आता है। शरीर के किसी एक स्थान पर दर्द होता है। इसके बाद शरीर का एक हिस्सा काम करना बंद कर देता है। दौरा तेज है तो व्यक्ति अचेत हो जाता है।

वही लोगों का मानना कि पहले दो अटैक सामान्य, तीसरे में खतरा अधिक होता है, इस भ्रांति में बिल्कल नहीं रहना चाहिए कि पहली बार है तो कुछ नहीं होगा। कई बार दिमाग की नसें फट जाती हैं, जिससे बड़ा अटैक आता है लोगों को बचाना मुश्किल हो जाता है।

सामान्य तौर पर ओल्ड यानी 50 वर्ष से ऊपर के लोगों को लकवा की शिकायत अधिक होती है। लेकिन, इसका मतलब यह नहीं कि अन्य को नहीं हो सकता है। इस दौरान बीमार व्यक्ति को नियमित दवाएं और खान-पीन पर ध्यान रखना होगा। स्मोकर्स या अन्य ड्रग लेने वालों को कम उम्र भी झटका पड़ सकता है।

लकवा और हार्ट अटैक की घटनाएं एक जैसी ही होती हैं। यह अचानक ही होता है। ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्राल आदि की जांच कराते रहना चाहिए। ठंड के दिनों में घमिनिया सिकुड़ने से रक्‍त का संचार धीमा होने से यह होता है। कई बार स्वस्थ्य व्यक्ति को लकवा मार जाता है।

लकवा से बचने के लिए घर पर इन उपायों को करें तो बचा जा सकता है ठंड के दिनों में एसा भोजन नहीं करें जो कोलेस्ट्राल को बढ़ाए। अधिक उम्र के लोगों को ठंड हवाओं से बचकर टहलें और क्षमा के अनुसार 15-20 मिनट तक व्यायाम करें, गर्म तासीर आहार लेने से ठंड के दिनों में बचा जा सकता है, गर्म कपडों से शरीर को ढंक कर रखें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.