खेतों में रहकर मजदूरी कर रहा था फरार सजायाफ्ता कैदी, सिरपुर में दबिश देकर पुलिस ने पकड़ा

कोरोना काल में 120 दिनों की आपात पैरोल पर जेल से छोड़ा गया था आरोपी, खत्म होने पर नहीं लौटा था वापस

खंडवा. कोरोना संक्रमण काल में जिला जेल से 120 दिनों की आपात पैरोल पर छोड़े गए फरार सजायाफ्ता कैदी को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी बुरहानपुर जिले के सिरपुर में छिपा बैठा था। वह खेतों में छिपकर मजदूरी कर रहा था। दरअसल, कोरोना संक्रमण काल में शासन के आदेश पर जिला जेल में संक्रमण की रोकथाम के उद्देश्य से जेल में दस वर्ष की सजा काट रहा सजायाफ्ता कैदी दिलीप पिता नंदू कोरकू (20) निवासी बामंदा (पिपलौद थाना) को 120 दिनों की आपात पैरोल पर छोड़ा गया था। पैरोल खत्म होने पर उसे 24 जनवरी को वापस जेल आना था। लेकिन वह लौटकर नहीं आया है। इस पर जेल प्रबंधन की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने कैदी दिलीप कोरकू के खिलाफ धारा 229 (क) के तहत प्रकरण दर्ज किया था। वहीं आरोपी की तलाश शुरू की। इसी बीच सोमवार रात पुलिस को मुखबिर से आरोपी के सिरपुर में छिपे होने की सूचना मिली। जानकारी मिलते ही कोतवाली पुलिस की टीम सिरपुर पहुंची और खेत में दबिश देकर फरार आरोपी दिलीप को गिरफ्तार कर लिया। फरारी के दौरान आरोपी सिरपुर में छिप-छिपकर मक्का व गेहूं के खेतों में मजदूरी कर रहा था। मामले में पुलिस ने आरोपी दिलीप को सोमवार को न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
बलात्कार के मामले में काट रहा दस वर्ष की सजा
जानकारी के अनुसार आरोपी कैदी दिलीप कोरकू के खिलाफ वर्ष 2018 में धारा 363, 366 और पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था। इसी प्रकरण में न्यायालय ने कैदी दिलीप को दस वर्ष की सजा सुनाई थी। इसी बीच कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन लगा। तभी शासन ने जेल से कैदियों को छोडऩे का निर्णय लिया। इसी के तहत कैदी दिलीप को जेल प्रबंधन ने 27 सितंबर 2020 को आपात पैरोल पर छोड़ा था।

जितेंद्र तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned